कल जब भारतीय जनता पार्टी ने ट्वीट करके बताया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और साथ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद होंगे, तब चारों और बातें होने लगी कि पांच साल के कार्यकाल में प्रधानमंत्री ने एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की है, आज ऐसी क्या बात हो गई!

जब पत्रकार प्रेस कॉन्फ़्रेस में पहुंचे जो कि लगभग एक घंटे चली और प्रधानमंत्री ने एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया, तब लोगों को भाजपा का ट्वीट याद आया जिसमें लिखा था, प्रधानमंत्री 'मौजूद' रहेंगे. सवालों के जवाब देंगे, ऐसा नहीं लिखा था.

बड़ी उम्मीद से पत्रकार प्रधानमंत्री के लिए सवाल लेकर गए थे, सारे सवाल धरे के धरे रहे गए. ख़ैर इंटरनेट का मैदान खुला था, वहां तो मज़े लिए जा सकते थे और जम कर लिए भी गए.

प्रधानमंत्री ने कह दिया है कि आप उन्हें 23 तारीख को मीम गिफ़्ट कर सकते हैं, वो FIR नहीं करेंगे तो उनके समर्थक भी भावनाओं पर काबू रखें.