गाज़ियाबाद की एक मुस्लिम महिला आज इस बात के लिए अफ़सोस कर रही है, कि उसने अपने घर पर रखा नमकीन का पैकेट मायके वालों को क्यों दिया. ये नमकीन आज उसके तलाक का कारण बन चुकी है. बीते रविवार को उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं आपूर्ति राज्य मंत्री और सांसद अतुल गर्ग के जनता दरबार में एक ऐसा केस आया कि वो भी असहाय महसूस करने लगे.

एक 26 वर्षीय महिला को उसके पति ने तीन बार तलाक बोलकर, तीन साल के बच्चे के साथ उसे घर से निकाल दिया. तलाक का कारण ये था कि उसने दो में से एक नमकीन का पैकेट अपने मायके में दे दिया था, जो कि उसका पति खरीद कर लाया था. इस घटना के बाद महिला अपने मायके रहने चली गई. मंत्री अतुल गर्ग के पास महिला, उसके पिता मोहम्मद सबीर और भाई पहुंचे, तो उन्होंने उसे पुलिस में शिकायत करने की सलाह दी और पुलिस की तरफ़ से सुरक्षा का आश्वासन दिया.

महिला के पिता ने बताया कि उसका दमाद पहले भी ऐसी छोटी बातों पर झगड़े करता आया है और बेटी को मारता भी आया है. वो लोग पहले कहीं और रहते थे और पिछले कुछ समय से उनके घर के पास किराये पर रह रहे हैं. उनका दमाद सलीम काफ़ी समय से घर खरीदने के लिए पैसे मांग रहा है, जो उनके पास नहीं है.

अतुल गर्ग ने बताया कि वो काफ़ी असहाय महसूस कर रहे थे कि धार्मिक कारणों की वजह से वो महिला की खास मदद नहीं कर पा रहे. उन्होंने कहा है कि इस मामले में किसी मुस्लिम धर्मगुरु को आगे आना चाहिए.

Article Source- Hindustantimes