भारतीय संविधान में घरेलू हिंसा को एक अपराध की श्रेणी में रखा गया है, जिसकी वजह से महिलाओं को अधिकार मिला है कि वो इस तरह की घटनाओं के प्रति कानून की मदद ले सकें.

पर बांद्रा में एक महिला को घरेलू का विरोध करना इतना महंगा पड़ा कि उसके पति ने HIV पॉज़िटिव ब्लड का इंजेक्शन ही लगा दिया. ख़बरों के मुताबिक, अभिमन्यु कांबले और अनीता 2013 में एक-दूसरे से मिले थे, जिसके एक साल बाद दोनों ने शादी कर ली. शादी के बाद सब कुछ ठीक चल रहा था कि कांबले के स्वभाव में बदलाव आ गया और वो अनीता के साथ मार-पीट करने लगा.

Source: pixabay

इससे तंग आ कर 2016 में अनीता ने कांबले के ख़िलाफ़ घरेलू हिंसा की शिकायत करने के साथ ही तलाक के लिए अर्ज़ी डाल दी. इसी केस की सुनवाई के दौरान एक दिन कांबले और अनीता कोर्ट के बाहर मिले, जहां दोनों के बीच बहस हुई. इसी बहस के दौरान कांबले ने अपनी मां का HIV ब्लड से भरा इंजेक्शन लिया और अनीता के कूल्हों में लगा दिया. अनीता इस हादसे के समय दो महीने की गर्भवती थीं, जिसकी वजह से उन्हें एबॉर्शन कराना पड़ा.

पुलिस ने इस बाबत कांबले को हिरासत में ले कर पूछताछ भी की, जिसमें उसने बताया कि उसकी मां HIV पॉज़िटिव थी. इस ब्लड को निकालने में उसकी बहन ने मदद की थी, जो खुद एक नर्सिंग स्टूडेंट है.

पुलिस ने दोनों पर सेक्शन 377 और 498 A के तहत मामला दर्ज कर लिया है और ब्लड सैंपल को जांच के लिए लैब में भेज दिया है.

Representative Feature Image Source: deccanchronicle