देर से ही सही, लेकिन चोर और पुलिस के खेल में जीत हमेशा पुलिस की ही होती है. हैदराबाद के निज़ाम म्यूज़ियम से बेशकीमती चीज़ों की चोरी के मामले में पुलिस ने बदमाशों को गिरफ़्तार करने के बाद इससे जुड़ा एक दिलचस्प किस्से का ख़ुलासा किया है.

Source : nedrickexpress

हैदराबाद पुलिस ने 2 सितंबर को हुई चोरी का पर्दाफ़ाश करते हुए बताया कि चोर हर रोज़ निज़ाम के गोल्डन टिफ़िन बॉक्स में लंच का मज़ा ले रहे थे. बदमाशों ने प्लानिंग के तहत चोरी को फ़िल्मी अंदाज़ में अंजाम दिया और इसके बाद पहुंच गए मुंबई. दोनों आरोपी एक लग्ज़री होटल में आलीशान ज़िंदगी व्यतीत कर रहे थे. 4 किलोग्राम सोना, हीरा, माणिक और पन्ना जड़ित इस टिफ़िन के साथ पुलिस ने आरोपियों के पास से सोने का कप, एक सॉसर, एक चम्मच और एक ट्रे समेत तमाम बहुमूल्य चीज़ें बरामद की हैं.

Source : ndtvimg

रिपोर्ट के अनुसार, बीते 2 सितंबर चोर गैंग के दो लोग रोशनदान के सहारे पुरानी हवेली के ओल्ड क्वॉर्टर में घुस गए. इसके बाद उन्हें संग्रहालय में प्रवेश करने का रास्ता मिला. अंतरराष्ट्रीय बाज़ार के अनुसार, म्यूज़ियम से चोरी हुए सामान की कीमत लगभग 30-40 करोड़ रुपये है. इन चोरों को पकड़ने के लिए पुलिस ने 22 टीमों का गठन किया और करीब 300 टावर्स से डेटा की छानबीन की. इसके साथ ही परिसर में लगे 32 सीसीटीवी कैमरों को भी चेक किया.

Source : outlookindia

काफ़ी मशक्कत के बाद पुलिस को चारमीनार इलाके का वीडियो मिला, जिसमें दो लोग बाइक पर बैठे हुए दिखाई दे रहे थे और उनकी बाइक का रेडिएटर एक पत्थर से टकरा गया था. वहीं जब पास के जहीराबाद ज़िले में पुलिस को एक लावारिस बाइक के बारे में पता चला, तो पुलिस का शक य़कीन में तब्दील हो गया. चोर बाइक को वहां छोड़ कर मुंबई के लिए रवाना हो गए थे. इसके बाद पुलिस भी उनकी तलाश में मुंबई निकल गई और आखिर में उन्हें गिरफ़्तार कर हैदराबाद ले आई.

चलो भाई अंत भला, तो सब भला. घर की चीज़ घर लौट आई, इससे ख़ुशी की बात और क्या होगी.

Source : Economictimes