Armstrong Pame को शायद ही बहुत से लोग जानते हों, पर ये मणिपुर के कई ज़िलों के हीरों है. Pame लोगों की भलाई के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं.

Pame ने अपने इलाके के लोगों के लिए, बिना सरकार की किसी सहायता के, स्थानीय लोगों की ही मदद से 100 किमी लंबी सड़क बनवाई थी.

Source: Armstrong Pame

Pame अभी Tamenglong के कलेक्टर हैं और इस बार उन्होंने एक और क्रांतिकारी निर्णय लिया है. Pame ने अपने घर के दरवाज़े बच्चों के लिए खोलने का निर्णय लिया है. उन्होंने कक्षा 5वीं-10वीं के 10 बच्चों को हर शुक्रवार Dinner पर अपने घर बुलाने का निर्णय लिया है. इन बच्चों को District Administration की Lunch के बाद की कार्य प्रणाली को करीब से देखने के मौका मिलेगा. हर स्कूल से 10 बच्चों को इसके लिए चुना जाएगा.

Source: Facebook

Deputy Commissioner द्वारा जारी किए गए Circular में कहा गया है कि बच्चों को उनके सपनों के बारे में बताने का भी मौका दिया जाएगा. इसके अलावा उनसे ये भी पूछा जाएगा कि वे अपने ज़िले को भविष्य में किस रूप में देखना चाहते हैं.

Source: Facebook

एक Facebook Post में Pame ने लिखा,

'बचपन में कई बार DC Bungalow और ऑफ़िस के पास से गुज़रता था, तो मुझे अंदर जाकर देखने की बहुत उत्सुकता होती थी. अब जब मैं ख़ुद DC के पद पर हूं, तो मैं स्कूल के बच्चों को Dinner पर आमंत्रित करना चाहता हूं. मैं उम्मीद करता हूं कि इससे उनके सपनों को पंख मिलेंगे.'

अपनी कार्यकुशलता के लिए Pame 'Miracle Man' के नाम से प्रसिद्ध हैं. Pame, Zeme Nege जनजाति के पहले IAS अधिकारी हैं.

Armstrong हर उस इंसान के लिए एक मिसाल हैं, जो एक कदम बढ़ाने से भी डरते हैं. कोशिश करके तो देखिये, समस्यायें अपने आप रास्तों में बदल जाएंगी.

Source: News18