पृथ्वी अजूबों से भरी हुई है. यहां कभी भी ज्वालामुखी फटने और प्राकृतिक आपदाएं आने जैसी घटनाएं होती रहती हैं. किस पल क्या हो जायेगा, ये कहना बड़ा ही मुश्किल है. इन घटनाओं से पृथ्वी का स्वरूप भी बदलता रहता है. हालांकि, पृथ्वी का आकर कभी नहीं बदलेगा, फिर भी हम आपको बता रहे हैं कि यदि पृथ्वी अपने आकार की दोगुनी हो गयी, तो क्या बदलाव आयेंगे.

1.

पृथ्वी का Mass बढ़ जायेगा, जिससे गुरुत्वाकर्षण भी दोगुना हो जायेगा. इससे आपको अपना वज़न भी दोगुना लगने लगेगा.

2.

आपकी रीढ़ की हड्डी Compressed हो जाएगी, जिससे आप छोटे लगने लगेंगे. स्पेस में कम ग्रेविटी होने के कारण अन्तरिक्ष यात्रियों की हाईट दो इंच तक बढ़ जाती है और धरती पर लौटने पर सामन्य हो जाती है.

3.

आप बहुत धीमे हो जायेंगे. कूदने से लेकर दौड़ने तक, हर काम में आपको ज़्यादा मेहनत लगानी पड़ेगी. आप जल्दी थकने लगेंगे और आपको ज़्यादा आराम की ज़रूरत होगी. समय के साथ हमारे बढ़े हुए वज़न को संभालने के लिए हमारी हड्डियां भी मज़बूत हो जायेंगी.

4.

सभी प्राणी छोटे हो जायेंगे. छोटे जीवों पर कम असर पड़ेगा. पेड़ों पर चढ़ने वाले जानवर ज़्यादा प्रभावित होंगे.

5.

पेड़ कितने ऊंचे होंगे, ये बहुत हद तक ग्रेविटी पर निर्भर करता है. ग्रेविटी बढ़ने से लम्बे पेड़ गिरने लगेंगे और नए पेड़ ज़्यादा लम्बे नहीं होंगे.

6.

ज्वालामुखी अंदर से ज़्यादा गर्म और सक्रीय हो जायेंगे. ज्वालामुखी से निकलने वाली गैस से वातावरण में भी बदलाव आ सकता है.

पृथ्वी में बदलाव होना, हमारे जीवन को पूरी तरह बदल सकता है.

Source: Brightsideme