हमारे देश में दिन पर दिन बलात्कार और यौन शोषण की घटनाएं बढ़ती ही जा रहीं नहीं. कड़े क़ानूनों के लागू होने के बाद भी लोग अपनी हवस मिटाने के लिए बच्चियों, लड़कियों और यहां तक कि 80-100 साली बुज़ुर्ग महिलाओं तक को अपना शिकार बनाने से नहीं चूकते. जी हां ये कड़वा है, लेकिन सच है. ऐसा ही दिल दहला देने वाला एक मामला सामने आया है, जहां एक लड़के ने अपनी उम्र से 5 गुना बड़ी उम्र की महिला का बलात्कार किया है.

HT की ख़बर के अनुसार, ये घटना पश्चिम बंगाल के नादिया ज़िले के गंगा प्रसादपुर गांव की है, जो कोलकाता से 65 किलोमीटर दूर स्थित है. यहां पुलिस ने एक 21 साल के युवक को 100 वर्षीय महिला का रेप करने के जुर्म में गिरफ़्तार किया. पुलिस के अनुसार, आरोपी की पहचान अभिजीत बिस्वास के रूप में हुई है, जिसको बीते बुधवार कल्याणी के एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया, जहां उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

Source: toiimg

बुजुर्ग महिला के बेटे ने बिस्वास, जो उनका पड़ोसी है, के ख़िलाफ़ चकदाहा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज़ कराई है. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि शराब के नशे में उसने महिला का बलात्कार किया.

अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर एक वरिष्ठ पुलिस अफ़सर ने बताया,

आरोपी को बीते मंगलवार को गिरफ़्तार कर लिया गया था. उस पर धारा 376 (बलात्कार) के तहत मुक़दमा दर्ज़ किया गया है. पीड़िता बुज़ुर्ग महिला की मंगलवार को ही मेडिकल जांच कराई गई.

बीते सोमवार देर रात बिस्वास नशे की हालत में उस कमरे में घुसा, जिसमें बुज़ुर्ग महिला सो रही थीं. महिला की चीख़ सुनकर परिवार वाले कमरे की ओर भागे और बिस्वास को रंगे हाथ पकड़ लिया.

एक मानवाधिकार संस्था 'असोसिएशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ डेमोक्रेटिक राइट्स' के वाइस प्रेजिडेंट, रणजीत सुर ने कहा,

हाल ही में हमने सुना था कि 70-79 साल की महिलाओं के साथ भी बलात्कार हुए हैं, लेकिन 100 वर्ष की महिला के साथ रेप की घटना पहले कभी नहीं सुनी.

इसके साथ ही रणजीत सुर ने कहा कि, इसी साल जुलाई महीने में कोलकाता से 198 किलोमीटर दूर पूर्वी मिदनापुर ज़िले छत्री गांव में तीन लोगों ने 70 साल की महिला के साथ बलात्कार किया था.

Source: sakalmediagroup

पश्चिम बंगाल में महिलाओं के ख़िलाफ़ सबसे ज़्यादा अपराध होते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 2012 में देश में दर्ज हुए बलात्कार के मामलों में करीब 12.67 प्रतिशत मामले पश्चिम बंगाल के थे. अगर राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों पर नज़र डालें, तो देश में महिलाओं के ख़िलाफ़ 2014, 2015, 2016 में क्रमशः 11.31%, 10.11% और 9.6% अपराध पश्चिम बंगाल में हुए हैं.

Feature Image Source: telegraph