15 अगस्त के मौके पर जब हम सब अपने टेलीविज़न सेट्स के पास बैठ कर चाय की चुस्कियां लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण सुन रहे थे, उसी समय देश का एक हिस्सा पिछले कई दिनों से बाढ़ जैसी समस्या से लड़ रहा था. पिछले कई हफ़्तों से बाढ़ ने असम में जन-जीवन को अस्त-व्यस्त किया हुआ है. इसके बावजूद ये असम के लोगों का उत्साह ही था कि बाढ़ से लड़ते हुए उन्होंने स्वतंत्रता दिवस समरोह में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और हर्षोउल्लास के साथ इसे मनाया.

Source: Mizanur Rahman/Facebook

बाढ़ से जूझ रहे असम के लोगों के इस उत्साह को देख कर देश के तमाम हिस्से से लोगों ने इसकी खूब प्रशंसा की. ये तस्वीर असम के धुबुरी के नस्कारा लोअर प्राइमरी स्कूल से आई है, जिसमें कमर तक पानी में डूबे 4 शिक्षक 2 बच्चों के साथ झंडा फहराते हुए दिखाई दे रहे है.

Source: HT

जलमग्न हो चुके इस स्कूल में स्वतंत्रता दिवस 13 तारीख को ही मनाया गया. इसमें स्कूल के हेडमास्टर ताज़ीम सिकदर के साथ उनके साथी नृपेन रभा, जयदेव रॉय और मिज़नर रहमान के अलावा कक्षा 3 के विद्यार्थी जिआउल अली खान और हैदर अली खान ने हिस्सा लिया.

Source: ht

इस बारे में शिक्षक रहमान का कहना है कि 'एक मीटिंग में हम चारों अध्यापकों ने फ़ैसला लिया कि हम स्कूल में स्वतंत्रता दिवस मनाएंगे. बाढ़ की वजह से भले ही हम इसे हर्षोउल्लास के साथ नहीं मना पाए, पर हमने राष्ट्रगान के साथ ही वंदे मातरम गया और इस ख़ुशी में शरीक हुए.' लोगों ने अध्यापकों के इस जज़्बे को खूब सराहा और ट्विटर पर अपना प्यार दिया.

इस तस्वीर के सामने आने के बाद ऐसी कई तस्वीरें आई, जिसमें लोगों ने बाढ़ जैसे हालातों में भी तिरंगा फहराया और स्वतंत्रता दिवस मनाया.

इन लोगों के हौसलों को देख कर बस यही कहा जा सकता है कि 'ऐसे ही लोगों की वजह से है मेरा देश महान.'

Source: Scoopwhoop