अगर आपको नहीं पता तो बता दें कि एशिया के अलग-अलग देशों को सड़क से जोड़ने के लिए 'AH1' एशियन हाईवे का निर्माण प्रगति पर है. इस पूरे हाईवे के बनने के बाद टोक्यो से बुल्गारिया तक सड़क बन जायेगी जो यूरोप के 'E80' हाईवे से जुड़ेगी. ज़रा उन असीमित संभावनाओं और रास्तों के बारे में सोचें जो हमारे लिए खुल जायेंगे. फिलहाल तो ख़ुशी इस बात की है कि भारत, म्यांमार और थाईलैंड को जोड़ने वाले हाईवे का काम तकनीकी तौर पर पूरा हो गया है और 2016 से ये सामान्य जन के लिए चालू हो जाएगा. ये हाईवे मणिपुर के मोरेह जिले से होते हुए म्यांमार में यंगून के रास्ते थाईलैंड के मोए सोत शहर तक जाएगा. इस रास्ते से अगर आप रोड ट्रिप पर जायेंगे तो 4,500 किलोमीटर का रास्ता तय करना पड़ेगा जिसके लिए 14 दिन लगेंगे. अगर आपको नयी जगहें देखने और घूमने का शौक है तो ये रास्ता जन्नत से कम नहीं है. तो आपको बताते हैं कि AH1 की कई खूबसूरत सड़कों से गुज़रते हुए आप किन-किन चीज़ों का दीदार कर सकते हैं.

1. प्रकृति की गोद में सोये हुए गुवाहाटी का खूबसूरत सूर्यास्त आपका इंतज़ार करेगा.

Source: Flickr

2. शिलांग की मनमोहक वादियों में एक दिन गुज़ारना तो बनता है.

Source: thrillophilia

3. म्यांमार में प्रवेश करते ही है 9वीं शताब्दी का शहर- बागान. यहां की इमारतें ही यहां का इतिहास बताती हैं.

Source: photoburst

4. म्यांमार के दूसरे सबसे बड़ा शहर, मंडाले में आप कई बौद्ध मंदिर और पगोडा देख सकते हैं.

Source: bpham

5. म्यांमार की राजधानी, नायप्यीडॉ बहुत ही सुन्दर है और किसी कारण से बहुत ही वीरान भी है.

Source: newtowninstitute

6. यहां से तय कीजिये यंगून तक का सफ़र जहां अंग्रेज़ों ने बहादुर शाह ज़फ़र को कैद कर के रखा था.

Source: destination42

7. थाईलैंड में प्रवेश करने से पहले बैंग पा इन रॉयल पैलेस के सौंदर्य की तारीफ़ करना मत भूलना. इसके बाद चलेंगे बैंकॉक.

Source: wallconvert

8. ये लो जी... आ गए थाईलैंड, जहां बैंकॉक की चकाचौंध आपका इंतज़ार कर रही है.

Source: clubmahindra

AH1 का ये मैप आपकी मदद करेगा.

Source: sukeindia

भविष्य में AH1 टोक्यो से शुरू होगा (जो फेरी से जुड़ा होगा) और सियोल, बीजिंग, हो ची मिन सिटी से हो कर यंगून, मंडाले, तामू के रास्ते मोरेह, इम्फ़ाल, कोहिमा, दिमापुर, गुवाहाटी, शिलांग, ढाका, कोलकाता, कानपुर, दिल्ली, अटारी, लाहौर, रावलपिंडी, पेशावर, काबुल, इस्तांबुल से बुल्गारिया को जोड़ेगा.

कितने अनजान रास्ते और अनुभव हमारे लिए खुलने वाले हैं. हर ट्रैवलर के लिए ये हाईवे खुशियों की मंज़िल बनने वाला है. तो जल्दी से पैसे इकट्ठे कीजिये और अपने दोस्तों के साथ प्लान बनाना शुरू कर दीजिये. आशा करते हैं कि 2016 में आप इन रास्तों की कई तस्वीरें हमारे साथ शेयर करेंगे. कमेंट कर के ज़रूर बताइयेगा कि आप में से कौन-कौन इस हाईवे पर ट्रैवल करना चाहता है.


This article is curated from indiatimes
Feature Image Source: younews