ताक़त, जज़्बा, जोश और काबिलियत, ये शब्द इंडियन एयर फोर्स के कारनामों के सामने कमतर नज़र आते हैं. इंडियन एयर फ़ोर्स ने हर मौके पर दुनिया भर में खुद को न केवल साबित किया है, बल्कि बेहद ज़िम्मेदारी के साथ कई उपलब्धियां अपने नाम की हैं. भारतीय वायु सेना दुनियाभर की सबसे मजबूत फ़ोर्सेज़ में से एक है. 8 अक्टूबर 1932 को स्थापित एयर फ़ोर्स ने कई युद्धों और शांति मिशन में अपनी ताकत और क्षमता को दुनिया के सामने उजागर किया है. इनमें नेपाल का भूकम्प और उत्तराखंड की बाढ़ जैसे कई हादसे भी शामिल हैं, जहां वायु सेना के जवानों ने बड़ी हिम्मत और जवाबदेही से काम किया. सरकार इंडियन एयर फ़ोर्स को दुनिया में सबसे ज़्यादा ताकतवर और आधुनिक बनाने में जुटी है.

आज हम आपको भारतीय वायु सेना से जुड़े 15 ऐसे तथ्य बताएंगे, जिन्हें जानने के बाद आप भारतीय वायु सेना को सलाम करेंगे.

1. फ़्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सिंह शेखों इकलौते ऑफिसर हैं, जिन्हें सेना का सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र मिला. एयर फ़ोर्स में किसी और को ये गौरव नहीं मिला.

2. आंकड़ों के मुताबिक, इन्डियन एयर फ़ोर्स के पास 1473 मजबूत एयरक्राफ्ट फ्लीट हैं, जिनमें हेलिकॉप्टर्स, ट्रेनर्स और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स शमिल हैं.

3. पद्मावती बंदोपाध्याय इंडियन एयर फ़ोर्स की पहली महिला एयर मार्शल थीं. वो एयर फ़ोर्स मेडिकल सर्विसेज़ की डायरेक्टर जनरल थीं.

4. अर्जन सिंह भारतीय वायु सेना के इकलौते अधिकारी थे, जो एयर मार्शल के पद तक पहुंचे थे. मार्शल Highest Rank होती है.

5. भारतीय वायु सेना के देश भर में कुल 60 एयरबेस हैं. जो 7 कमांड्स में बंटे हुए हैं.

6. सभी कमांड्स के मुकाबले वेस्टर्न एयर कमांड सबसे बड़ा कमांड है, जिसमें 16 एयरबेस शामिल हैं.

7. आज़ादी से पहले वायुसेना इंडियन आर्मी के अंतर्गत आती थी. पहले कमांडर इन चीफ Sir Thomas Walker Elmhirst के प्रयासों से ये एक स्वतंत्र संस्था बन सकी.

8. ये बेहद ख़ास बात है कि इंडियन एयर फ़ोर्स का देश के बाहर ताज़िकिस्तान में पहला एयरबेस मौजूद है.

9. सियाचिन ग्लेशियर इंडियन एयर फ़ोर्स का सबसे ऊंचा एयर फ़ोर्स स्टेशन है, जो 22 हज़ार फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है, जो दुनिया के सबसे ऊंचे एयर फ़ोर्स स्टेशन्स में शामिल है.

10. 1947 में पाक युद्ध के दौरान एयर फ़ोर्स ने सराहनीय काम किया. एयर फ़ोर्स के विमानों ने आर्मी के बहुत से जवानों को कश्मीर मुद्दे पर हुई इस जंग में लड़ने के लिए पहुंचाया.

11. 1945 से 1950 तक इंडियन एयर फ़ोर्स को रॉयल इन्डियन एयर फ़ोर्स कहा जाता था. भारत के गणतंत्र होने के बाद 'रॉयल' शब्द को हटा दिया गया.

12. भारतीय वायु सेना के पास स्पेशल फ़ोर्स यूनिट है, जिसका नाम है गरुड़ कमांडोज़ यूनिट. इसे 2004 में बनाया गया था. ये बेहद मजबूत होने के कारण दुनिया भर में मशहूर हैं.

13. इंडियन एयर फ़ोर्स दुनिया की सर्वाधिक मजबूत एयर फ़ोर्सेज़ में सातवें स्थान पर आती है. ये जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और जापान से बेहतर है.

14. इंडियन एयर फ़ोर्स का नीला झंडा 1951 में स्वीकार किया गया. इसकी संरचना के मध्य में राष्ट्रीय ध्वज भी है.

15. भारतीय वायु सेना का सूत्र वाक्य 'नभ स्पर्शम् दीप्तम्' भगवत गीता के 11वें अध्याय से लिया गया है.

अब अपने देश की वायु सेना के बारे में क्या कहते हैं आप?

कुछ और फ़ैक्ट्स:

Designed By: Ankita Patel