हर देश के लिए बॉर्डर कॉन्ट्रोवर्सी हमेशा से ही सिर दर्द रही है. भारत के भी पाकिस्तान और चीन के साथ बॉर्डर को लेकर कई तरह के विवाद चल रहे हैं. जम्मू-कश्मीर के उड़ी में हुए हमले के बाद से भारत-पाक के बीच तनाव और बढ़ गया है. साउथ एशिया का सबसे बड़ा देश होने के कारण भारत की सीमा 6 देशों से मिलती है. इसमें पाकिस्तान, चीन, नेपाल, भूटान, म्यांमार और बांग्लादेश शामिल हैं. आज हम आपको भारत की इन सभी देशों से जुड़ी सीमाओं के बारे में बताएंगे.

भारत-भूटान बॉर्डर

-आपको इस फोटो को देखकर यकीन नहीं होगा कि दोनों देशों की सीमा एक नाली से बंटी हुई है.

source: imgur

- दोनों देशों के बीच 699 किमी का बॉर्डर है. दोनों ही देश कल्चर और ट्रेडिशन के मामले में एक-दूसरे से जुड़े हैं.

source: flicker

- भारत-भूटान के बीच सिर्फ एक ही एंट्री प्वाइंट है. ये भारत के वेस्ट बंगाल के जयगांव से और साउथ-वेस्ट भूटान के फुंटशोलिंग से होकर जाता है.

भारत-चीन बॉर्डर

- ऑफिशियल तौर पर मैकमोहन लाइन भारत और चीन को अलग करती है.

source: presstv

- इस ट्रीटी को 1914 में ब्रिटेन-तिब्बत के बीच साइन किया था. हालांकि, चीन इसके लीगल स्टेटस को नहीं मानता है.

भारत-म्यांमार बॉर्डर

- दोनों देशों के बीच 1600 किमी लंबा बॉर्डर और चार नॉर्थ-ईस्ट स्टेट मिलते हैं. इसमें अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मिजोरम और मणिपुर शामिल हैं.

source: indiatimes

- दोनों देशों के बीच थोड़े से इश्यू होने के बावजूद ये अच्छे पड़ोसी हैं.

भारत-नेपाल बॉर्डर

- दोनों देशों के बीच फ्रेंडली रिलेशन हैं. भारत ने नेपाली भाषा को अपने संविधान में जगह दी है.

source: bhaskar

- दोनों देशों के लोग सांस्कृतिक रूप से आपस में जुड़े हैं. साथ ही दोनों देशों के नागरिकों का एक-दूसरे के देश में जाने पर वीज़ा नहीं लगता.

भारत-बांग्लादेश बॉर्डर

- बंटवारे से पहले बांग्लादेश भारत का हिस्सा था. बांग्लादेश लिबरेशन वॉर के दौरान वहां के बहुत से लोग भारत आ गए थे.

source: aljazeera

- दोनों देशों के बीच 4096 किमी का लंबा और दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा बॉर्डर है.

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर

- दोनों देशों के इंटरनेशनल बॉर्डर पर पाकिस्तान के चार प्रांत और भारत के पांच राज्य मिलते हैं.

source: wordpress, Wagah Boarder

- कश्मीर और पंजाब के वाघा में दोनों के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) है.

- इसके अलावा राजस्थान और गुजरात में बॉर्डर एरिया है. वहीं, पाकिस्तान के सिंध प्रांत के बॉर्डर को जीरो प्वाइंट कहते हैं.

इन सभी देशों से भारत की सीमाएं ऐसे मिलती हैं, जैसे दोनों एक ही हैं. कुछ जगहों पर तो पता ही नहीं चलता कि भारत है या दूसरा देश. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है सांस्कृतिक एकरूपता. खैर हम तो यही कहेंगे कि हमारे सारे पड़ोसी मिल-जुलकर रहें.