गांव से लोग शहर की तरफ़ आते हैं, चंद पैसे और ढेर सारे सपने ले कर. शहर की चकाचौंध में लोगों को अपने सपने साकार होते दिखते हैं, लेकिन शहर की कमाई का एक बहुत बड़ा हिस्सा रहने और खाने में चला जाता है. शहर जितना रंगीन और खूबसूरत दूर से दिखता है, उससे कहीं ज़्यादा महंगा पास से होता है. चलिए हम आपको देश के कुछ सबसे महंगे शहरों के बारे में बताते हैं, जहां न सिर्फ़ रहना, बल्कि पेट भरना भी काफ़ी महंगा है.

दिल्ली, मुंबई के साथ-साथ देश के अन्य शहर भी ऐसे हैं, जहां एक रूम के फ़्लैट का किराया ही 12 हज़ार से ज़्यादा है. देश की राजधानी दिल्ली की ठीक-ठाक लोकेशन में एक रूम का किराया 12 से 16 हज़ार रुपये है, वहीं देश की आर्थिक राजधानी में ये फ़्लैट 36 हज़ार रुपये पर मिलेगा.

रहना तो ठीक है, अब बात करते हैं खाने की. खाने के लिए भी ये शहर सस्ते तो कहीं से नहीं हैं. दिल्ली में एक वक्त के खाने के लिए 150 से 200 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, वहीं गुरुग्राम दिल्ली से भी महंगा हो जाता है, यहां 350 से 400 रुपये में एक वक्त का खाना आता है.

अगर सफ़र की बात करें और ऑनलाइन टैक्सी सर्विसेज़ को हटा दें, तो दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु जैसे शहर को मात देना किसी के बस की बात नहीं. दिल्ली में जहां 12 रुपये से टैक्सी की शुरुआत होती है, वहीं मुंबई में इसकी दर 20 और बेंगलुरु में भी दिल्ली की तरह 12 रुपये है. है.

Art By: Shruti Mathur