इन दिनों अमेरिका में तान्या रावल नाम की एक भारतीय-अमेरिकी महिला अपने पहनावे को लेकर ख़ूब सुर्खियां बटोर रही हैं. कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर के तौर पर काम करने वाली तान्या इन दिनों साड़ी पहन रही हैं. उनकी इस कोशिश की वजह से अमेरिका के कई हिस्सों में भारतीय और विदेशी मूल की महिलाएं साड़ी पहन रही हैं. साड़ी को लेकर उनमें एक तरह से क्रेज़ बना हुआ है. सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर तान्या ने #SareeNotSorry हैशटैग के साथ अपनी साड़ी पहने कई फोटोज़ शेयर की हैं. उनकी इस अदा को सभी लोग पसंद भी कर रहे हैं. देखा जाए तो तान्या अपनी इस कोशिश से अमेरिका में साड़ी के प्रचलन को बढ़ावा दे रही हैं. उनका मानना है कि साड़ी पहनने से महिलाएं सुंदर लगती हैं. इससे अपने देश की संस्कृति और सभ्यता झलकती है. कुछ अतिवादियों की वजह से भारतीय उपमहाद्वीप की महिलाएं, अमेरिका में साड़ी पहनना बिल्कुल बंद कर चुकी हैं. जिसे तान्या फ़िर से शुरू करना चाहती हैं. अमेरिका में रह रही महिलाओं को डर है कि साड़ी पहनने के बाद कहीं कोई उन पर हमला न कर दे. तान्या साड़ी पहन कर इन लोगों को चुनौती दे रही हैं. तान्या से जुड़ी कई और बाते हैं जिसे हमें जानना ही चाहिए.

1. सितंबर 2015 से तान्या रावल अपनी फ़ोटो को #SareeNotSorry हैशटैग के साथ शेयर कर रही हैं.

2. शुरूआत में तो सिर्फ़ कॉलेज में साड़ी पहन कर लेक्चर देने जाती थीं, अब हमेशा पहनती हैं.

3. तान्या का कहना है कि अमेरिका में महिलाएं साड़ी पहनने से कतराती हैं, इसी वजह से मैने एक पहल की.

4. तान्या साड़ी पहन कर आतंकियों को बताना चाहती हैं कि भारतीय भी इंसान होते हैं और वो काफी शांत होते हैं.

5. तान्या का मानना है कि साड़ी सिर्फ़ दिखावे के लिए नहीं पहन रही हूं, इसकी वजह से महिलाएं और भी सुंदर लगती हैं.

6. आज तान्या की वजह से कई भारतीय उपमहाद्वीप की महिलाएं साड़ी पहनना पसंद कर रही हैं.

7. सोशल साइट के इंस्ट्राग्राम पर तान्या की तस्वीरों को ख़ूब लाइक और शेयर किया जा रहा है.

First Published on Buzzfeed

विश्व की सभी संस्कृतियों की अपनी एक अलग पहचान है. वहां के निवासियों को उसी पहचान के साथ जाना भी जाता है. भारतीय संस्कृति में साड़ी का महत्व भी कुछ इसी तरह से है. तान्या रावल अपने इस प्रयोग से भारत और भारतीय संस्कृति का नाम रौशन कर रहे हैं. उनकी इस कोशिश की वजह से ही अमेरिकी महिलाओ में साड़ी के प्रति एक ख़ास आकर्षण देखने में आ रहा है. यदि आप भी अपनी संस्कृति को पसंद करते हैं तो इसे अपने दोस्तों तक ज़रूर साझा करें.