हाल ही में एक लिस्ट जारी हुई थी, जिसमें दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के 14 शहरों का नाम टॉप पर था. इन नामों में कानपुर नंबर वन और देश की राजधानी दिल्ली को छठे स्थान पर थी और ये हमारे लिए काफ़ी शर्मिंदगी की बात भी थी. वहीं अब एक और लिस्ट सामने आई, जिसमें इंदौर और भोपाल को देश के सबसे साफ़ शहरों में शुमार किया गया है. ये लगातार दूसरा साल है, जब साफ़ शहरों की सूची में इंदौर को नबंर वन पोज़िशन पर रखा गया है. इसके अलावा भोपाल दूसरे नबंर पर और वहीं चंडीगढ़ को तीसरा सबसे साफ़ शहर बताया गया.

Source : HT
केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर सर्वेक्षण के परिणाम घोषित करते हुए कहा कि 'New Delhi Municipal Council (NDMC) 3 लाख से कम आबादी वाला सबसे साफ़ शहर है, तो वहीं सभी राज्यों की राजधानियों में से ग्रेटर मुंबई को सबसे साफ़ शहर घोषित किया गया.'

साफ़ शहरों के इस सर्वेक्षण में ये बताया गया कि 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में विजयवाड़ा सबसे साफ़ शहरों में एक है. इसके साथ ही 3 लाख से 10 लाख की आबादी वाले शहरों में मैसूर पहले स्थान पर कब्ज़ा ज़माने में सफ़ल रहा. सरकार के मुताबिक, स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए देश की 4,203 नगरपालिकाओं से आने वाले 37.66 लाख लोगों की प्रतिक्रिया ली गई है.

Source : Hindustantimes

'स्वच्छ सर्वेक्षण' के लिए क्षेत्रीय सर्वेक्षण एक इंडिपेंडेंट एजेंसी द्वारा आयोजित किया गया था और शहरों की रैंकिग के लिए डेटा 3 सोर्सेज़ द्वारा हासिल किया था, जिसमें सर्विस लेवल प्रोग्रेस, औचक निरीक्षण और लोगों की प्रतिक्रिया शामिल है, जिसमें से लोगों के फ़ीडबैक का सिर्फ़ 35 प्रतिशत हिस्सा है.

वैसे सोचने वाली बात ये है कि जब इंदौर, भोपाल और चंडीगढ़ देश के सबसे साफ़ शहरों में शामिल हो सकते हैं, तो बाकी शहर क्यों नहीं. ख़ैर, स्वच्छता बनाये रखने के लिए इन तीनों शहरों के लोगों को ढेर सारी बधाईयां.

Source : TOI

Feature Image Source : IndiaToday