हाल ही में पता चला था कि अभिनेता इरफ़ान खान न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर की बीमारी से पीड़ित है. एक्टर को लेकर आई इस ख़बर ने सभी को हैरान और परेशान कर दिया था. पर्दे पर मुश्किल हालातों की जंग जीतने वाले इरफ़ान ने असल ज़िंदगी में भी हार नहीं मानी और आज डट कर उसका सामना कर रहे हैं.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक, एक्टर लंदन में न्यूरोएंडोक्राइन का इलाज करा रहे हैं और उन्होंने इंटरव्यू में अपने दर्द का ज़िक्र करते हुए मन के भावों को शेयर किया.

Source : Samaa
इंटरव्यू में उन्होंने बताया, 'मैं अपने अंदर घबराहट, डर और बेचैनी को हावी नहीं होने देने चाहता था, मुझे अपने पैरों पर खड़े रहने की ज़रूरत थी. क्योंकि अगर मैं उस परिस्थिति से डर जाता, तो मेरी ज़िंदगी में और मुश्किलें पैदा हो जाती. मुझे बहुत तेज़ दर्द हो रहा था. ऐसा दर्द जिसे सिर्फ़ मैं महसूस कर पा रहा था, उसकी असली तीव्रता का पता चल रहा था. उस समय पूरा ब्रह्मांड आपको एक सा नज़र आता है, सिर्फ़ दर्द और दर्द का एहसास, जो कि ईश्वर से भी अधिक बड़ा महसूस होने लगता है.'
Source : Livemint

आगे उन्होंने बताया, 'असलियत से वाकिफ़ होने के बाद मैंने परिणाम की परवाह किए बिना और विश्वास रखते हुए ख़ुद को सरेंडर कर दिया. जीवन और मौत के खेल के बीच, बस एक सड़क है. मैं बस अपनी ताकत को पहचान, उस खेल को बेहतर खेलने की कोशिश कर सकता हूं. मुझे नहीं पता कि अब 8 महीने या 4 महीने या 2 साल बाद ज़िंदगी मुझे कहां ले जाएगी.'

Source : TheHindu
'मैं पहली बार ख़ुद को हर प्रकार के बंधन से मुक्त महसूस कर रहा हूं. इसके साथ ही दुनियाभर के लोग मेरे लिए दुआ कर रहे हैं, यहां तक कि मैं उन लोगों को जानता भी नहीं. ऐसा लगा मानों सभी दुआएं एक हो गईं.'

इरफ़ान की हिम्मत को सलाम! इसके साथ ही हम यही दुआ करेंगे कि आप पहले की तरह जल्द ही स्वस्थ्य हो जाएं.