'ब्लैक विडो' के नाम से मशहूर जापान की महिला को मौत की सज़ा दे दी गयी है. ये महिला अपने प्रेमियों को साइनाइड देकर मार डालने के लिए कुख्यात है. अपने प्रेमियों का क़त्ल कर के वो उनकी संपत्ति और Insurance के पैसों से ऐश किया करती थी.

70 वर्षीय Chisako Kakehi को तीन आदमियों के खून के जुर्म में ये सज़ा सुनाई गयी है. इनमें से एक से उसने शादी भी की थी. इसके अलावा, एक और व्यक्ति का क़त्ल करने की कोशिश करने का इल्ज़ाम भी इस महिला पर है.

उसके इस कृत्य की तुलना 'ब्लैक विडो मकड़ी' के काम से की जाती है, जो सहवास के बाद अपने साथी को खा जाती है.

उसने पिछले दस सालों में अपने प्रेमियों के Insurance के ज़रिये लगभग 8.8 मिलियन डॉलर की रकम हड़पी है.

वो अपने प्रेमियों से कहती थी कि वो उन्हें कोई स्वास्थ्यवर्धक कॉकटेल पिला रही है और ड्रिंक में साइनाइड मिला कर उन्हें दे देती थी. उसे नवंबर 2014 में गिरफ़्तार किया गया था. दिसम्बर 2013 में उसने अपने चौथे पति की हत्या की थी.

जब चौथे पति, Isao Kakehi की ऑटोप्सी रिपोर्ट में पता चला था कि उसकी मौत साइनाइड की जानलेवा डोज़ लेने के कारण हुई है, तब इस महिला को गिरफ़्तार किया गया था. क़त्ल से एक महीने पहले ही दोनों ने शादी की थी.

गिरफ़्तारी के बाद उसने बताया था कि उसका पति कंजूस था, इसलिए उसने उसकी हत्या कर दी. उसने कहा, "मेरा अपना जुर्म छुपाने का कोई इरादा नहीं है. अगर कल को मुझे मौत की सज़ा दे भी दी जाती है, तो मैं इस पर हंस दूंगी और आराम से मर जाऊंगी.

उसके वक़ीलों ने दलील दी थी कि उसे डिमेंशिया बीमारी है, लेकिन उसकी सज़ा में कोई बदलाव नहीं किया गया.

Source: Nydailynews