बचपन में यह सीख हम सभी को स्कूल में या अपने आस-पास मौजूद लोगों द्वारा दी जाती है कि गुस्सा बुद्धि का नाश कर देता है. यह बात हर सिचुएशन में लागू होती है, फिर चाहे वो दाम्पत्य जीवन से जुड़ा हुआ कोई मसला ही क्यों ना हो, लेकिन लगता है जापान के रहने वाले ओतउ कत्यमा इस बात को भूल गये. जापान के इस शख़्स ने अपनी पत्नी से गुस्से की वजह से एक घर में बच्चों के साथ रहते हुए भी पिछले 20 सालों से बात नहीं की.

तीन बच्चों का यह बाप अपनी बीवी से इस क़दर नाराज़ हुआ कि इतने सालों में उसने अपनी बीवी को एक लफ्ज़ भी नहीं बोला. इस दौरान ये महाशय अपने बच्चों से अच्छी तरह से बात करते रहे हैं. लोगों का बताना है कि ओतउ स्वभाव से काफ़ी ज़िद्दी किस्म का इंसान है.

इस पति की इस तरह छाई बेरुख़ी के पीछे वजह बताई जा रही है कि उनके बच्चे जब छोटे थे, तब ओतउ को पत्नी द्वारा बच्चों को दी जा रही ज़्यादा अटेंशन की वजह से जलन होती थी. बच्चों की देखभाल के दौरान उनकी पत्नी उन पर ध्यान ही नहीं देती थी. इस बात से नाराज़ होकर ओतउ ने उससे बात करना ही बंद कर दिया. हां, लेकिन इन 20 सालों के दौरान उसकी पत्नी ने कोशिश नहीं छोड़ी, वह लगातार अपने पति से बातें करती, लेकिन ओतउ जवाब में एक शब्द भी नहीं बोलता था.

इस अजीबोगरीब सिचुएशन से बाहर आने के लिए ओतउ और यूमी के बच्चों ने एक तरकीब निकाली. अपने माता-पिता के बात करवाने के लिए उनके 18 साल के बेटे योशिकी ने एक टीवी शो की मदद ली. योशिकी का कहना है कि उसने अपने मम्मी-पापा को कभी बात करते हुए नहीं देखा. योशिकी के अलावा इस कपल की 21 और 25 साल की दो बेटियां भी हैं.

टीवी शो के होस्ट ने इन दोनों पति-पत्नी में बात करवाने के लिए एक शानदार जगह चुनी. वह इस जोड़े को उस पार्क में ले कर गया, जहां इन दोनों ने अपनी डेट के दौरान मुलाकात की थी. पार्क में मिलने के बाद ओतउ ने ही बातचीत का सिलसिला शुरू किया. उसके बाद दोनों आपस में बात करने लगे. यह नज़ारा देख कर तीनों बच्चों की आंखों में आंसू आ गये.

सफ़ल दाम्पत्य के लिए रिश्तों में प्यार बना रहना ज़रुरी है, उसके लिए एक-दूसरे को सम्मान देना उससे भी ज़्यादा आवश्यक है. इन सबके बीच हम आपको बता दें, जापान जैसे विकसित और सांस्कृतिक रूप से सम्पन्न देश में 69% पुरुष और 59% महिलाएं एकांकी जीवन बिता रहे हैं. इतने प्रतिशत स्त्री-पुरुष बिना किसी पार्टनर के रहते हैं.

Source: independent