फूलों के देखकर, हर किसी के चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती है. कोई पत्थर दिल ही होगा जिसे फूलों को देखकर खुशी महसूस न हो, और ये जितने ख़ूबसूरत पौधों या पेड़ों में लगते हैं उतना कहीं नहीं लगते.

गुलदाउदी, सर्दियों में हर किसी के गार्डन की शोभा बढ़ाते हैं. कुछ जापानी वैज्ञानिकों ने Genetic Engineering की मदद से, 13 सालों के कठिन परिश्रम के बाद नीले रंग के गुलदाउदी बनाए हैं. इन्हें 3 अलग-अलग फूलों के DNA से बनाया गया है.

Source: Daily Mail

वैज्ञानिकों का कहना है कि अब तक नीले रंग के किसी भी फूल को बनाना बहुत मुश्किल है, चाहे वो गुलाब हो, Lillies हो या Carnations हो. अब तक नीले रंग की गुलदाउदी बनाने में असफ़लता ही हाथ लग रही थी क्योंकि Genes के Expression Unpredictable होते थे.

Source: Daily Mail

जापान के Agriculture and Food Organisation के Naonobu Noda ने बताया,

'जब भी नए Gene फूलों में डाले जाते, फूल उन्हें Accept ही नहीं करते थे, इसका कारण भी हमें नहीं पता है. कई दूसरी कोशिशों में हमने Violet रंग के फूल बनाए, पर नीले नहीं बना पा रहे थे.'

कई बार असफ़ल होने के बाद वैज्ञानिकों ने दो नीले फूलों- Butterfly Peas, Canterbury Bells के Genes लिए और उन्हें गुलदाउदी में डाला. इन दोनों फूल के Genes ने गुलदाउदी के Genes को Modify कर दिया और Delphinidin Molecule बनाया. इस Molecule ने गुलादाउदी के बाकी Colorless Compounds के साथ मिल कर Blue Pigment बनाया और नीले रंग के गुलदाउदी बन गए.

Source: Npr

हालांकि, ये फूल पूरी तरह से नीला नहीं होगा, कहने के मतलब कहीं कम नीला, तो कहीं ज़्यादा नीला होगा.

वैज्ञानिकों ने ये भी बताया कि True Blue Flowers बहुत Rare होते हैं, इसीलिये ये नया Creation एक बहुत बड़ी उपलब्धि है.

जापान में गुलदाउदी की बहुत एहमियत है, पर वैज्ञानिकों ने इन फूलों के बाज़ार में आने के बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी है. ये बागवानी के शौक़ीनों के लिए भी बहुत अच्छी ख़बर है, जो अपने गार्डन में सिर्फ़ Violet नहीं बल्कि Blue फूल भी देखना चाहते हैं.

Source: Daily Mail