भारत में देह-व्यापर में बच्चियों को झोंका जाना एक बड़ी समस्या है. इसके आंकड़े भयभीत करने वाले हैं, लगभग 1.2 मिलियन बच्चों को इसमें जबरन झोंक दिया जाता है. लेकिन इसके दलालों और माफ़ियाओं को सज़ा नहीं मिल पाती. यही कारण है कि आज भी ये धड़ल्ले से अपनी जड़ें जमाए हुआ है.

J. Walter Thompson मार्केटिंग एजेंसी ने 'Free a Girl Movement' के तहत इस समस्या से निपटने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है. “School for Justice,” नाम का प्रोग्राम वैश्यावृति से छुड़ाई गयी लड़कियों को लॉ में शिक्षित कर उन्हें आगे बढ़ाने के लिए शुरू किया जा रहा है. ये योजना उन्हें अपने जैसी लाखों लड़कियों को इंसाफ़ दिलाने में सक्षम बनाने के लिए है.

इस हफ़्ते 19 से 26 के बीच की उम्र की 19 लड़कियां अपनी पढ़ाई शुरू कर चुकी हैं. अभिनेत्री मल्लिका शेरावत भी इस मुहीम में अपना योगदान दे रही हैं और लोगों को इस बारे में जागरूक करने में मदद कर रही हैं.

इस प्रोग्राम के तहत लड़कियों के अगले बैच को अभी से तैयार किया जा रहा है और उन्हें ट्यूशन दिए जा रहे हैं, ताकि वो अगले कदम के लिए तैयार हो सकें. इस नेक काम की राह आसान नहीं थी, लड़कियों को कई लोग धमकाने और डराने की कोशिश कर रहे हैं. यही वजह है कि स्कूल की लोकेशन अभी बताई नहीं जा रही है.

इसके बावजूद, अगर ये पहल सफ़ल होती है, तो ये लड़कियां लाखों अन्य लड़कियों के लिए प्रेरणा बन जाएंगी. लड़कियों को पांच से 6 साल में डिग्री दे दी जाएगी. JWT इससे पहले U.S. और Venezuelan में भी ये प्रोग्राम चला चुका है.

Source: Adweek