प्रियंका चोपड़ा की फ़िल्म, 'मैरी कॉम' में एक डायलॉग था:

'किसी को इतना भी मत डराओ कि डर ही ख़त्म हो जाए.'

ये डायलॉग था तो फ़िल्मी, लेकिन फ़िल्मी इंडस्ट्री में हो रही उठा-पटक के सन्दर्भ में इसे अच्छे से इस्तेमाल कर सकते हैं. कंगना रनौत ने 'आप की अदालत' में दिए एक इंटरव्यू में बॉलीवुड के रहस्यों को बेधड़क तरीके से सामने रखा था. कंगना ने अपनी Controversies पर भी खुल कर बात की. इस इंटरव्यू के बाद से आधी दुनिया उनके बेबाकपने की कायल हो गयी और आधों को ये एक सस्ता पब्लिसिटी स्टंट लगा. लेकिन 'आप की अदालत' और रवीश को दिए इंटरव्यू में कंगना ने जो भी बातें कहीं, वो कहने के लिए हिम्मत चाहिए.

बॉलीवुड के इतने सालों के इतिहास में आज तक किसी भी एक्टर ने मीडिया और आम लोगों के सामने इस तरह से कोई इंटरव्यू नहीं दिया.

इस इंटरव्यू के कुछ (अंश) Excerpts यहां आपसे शेयर कर रहे हैं:

ये बातें उन्होंने ऋतिक के साथ चल रहे अपने विवाद पर कहीं हैं.

इंडस्ट्री में सिर्फ़ स्तर किड्स को मिलनी वाली प्राथमिकता पर भी बोली कंगना

ये बातें तब कहीं, जब वो आदित्य पंचोली के साथ रिलेशनशिप में थी. कंगना का कहना है कि छोटे होने के कारण उनसे कई ग़लतियां हुईं, लेकिन उन्हें सही करने वाला कोई नहीं था.

अवॉर्ड Functions में अकसर क्या होता है, ये बातें सभी जानते हैं. कंगना ने इसी बात को उजागर किया है.

जब उनसे पूछा गया कि वो इतनी हिम्मत कहां से लाती हैं?

कंगना बेबाक हैं और ये ही उन्हें बनाता है. उन्होंने कई लड़कियों को प्रेरणा दी है, सच का साथ देने की और उसके लिए वो सब करने की, जिसे करने से दुनिया बचती रही है.

भारतीय सिनेमा को ऐसे और कई लोगों की ज़रूरत है.