16 जनवरी 2018 को कानपुर पुलिस ने बिल्डर के घर से 100 करोड़ रुपये की पुरानी करेंसी बरामद कर, मामले में करीब 16 लोगों को गिरफ़्तार किया था. ख़बरों के मुताबिक, सूचना मिलने पर पुलिस और एनआईए की टीम ने शहर भर में करीब 3-4 होटेल्स और निर्माणाधीन परिसर में छापेमारी की. इस दौरान पुलिस ने स्वरूप नगर स्थित एक घर से करोड़ों रुपये के पुराने नोट बरामद किये.

Source : scoopwhoop

वहीं इस कहानी में अब एक नया ट्विस्ट आ गया है. बताया जा रहा है कि छापेमारी कर पुलिस 100 करोड़ रुपये के पुराने नोट ज़ब्त करने में तो कामयाब रही, लेकिन अब उनके सामने सबसे बड़ी ये परेशानी ये है कि 500 और 1000 के इन करोड़ों नोटों की गड्डी रखे कहां. दरअसल, इस कानपुर पुलिस इस वक़्त एक ऐसी जगह की तलाश कर रही है, जहां इन पैसों को रखा जा सके.

Source : samacharplus

फ़िलहाल पुराने नोटों की इन गड्डियों को 4*6 साइज़ के बक्सों में स्टोर कर के रखा गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, ये पैसे शहर के बिज़नेसमैन और बिल्डर अशोक खत्री के घर से बरामद किये गए थे. पुलिस के मुताबिक, खत्री एक अमीर परिवार से ताल्लुक रखते हैं, इसके साथ ही वो कई गै़रकानूनी गतिविधियों में भी शामिल हैं. पुलिस पूछताछ में ये पता चला कि ये रकम दुबई और अमेरिका भेजी जानी थी, फिर NRI कोटे से इसे बदला जाना था.

बता दें, 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद करने की घोषणा की थी. इसके बाद RBI ने 500 और 2000 हजार रुपये के नए नोट जारी किए थे. 31 मार्च पुराने नोट बैंक में जमा करने की आखरी तारीख़ थी.

Source : HT