कोच्ची मेट्रो ने 11 अलग-अलग पदों पर 23 ट्रांसजेंडर्स की नियुक्ति की है. इसमें हाउसकीपिंग से लेकर टिकट काउन्टर तक के काम शामिल हैं. इस तरह कोच्ची मेट्रो सरकारी-स्वामित्व वाली ऐसी पहली कम्पनी बन गयी है, जहां ट्रांसजेंडर्स की नियुक्ति की गयी है.

कोच्ची मेट्रो के Aluva-Palrivattom कॉरिडोर में 11 मेट्रो स्टेशन हैं. यहां गरीबी कम करने के लिए केरल सरकार द्वारा चलाये जा रहे Kudumbasree Mission के तहत, 530 कर्मचारियों को काम दिया गया है.

कोच्ची मेट्रो रेल के प्रबंध निदेशक, Elias George ने बताया कि मेट्रो ट्रांसजेंडर्स और महिलाओं को भी बराबर का हक़ और अवसर प्रदान करना चाहती है.

कोच्ची मेट्रो का पहला ट्रायल 10 मई को शुरू हुआ है. इस साल जून से कोच्ची में मेट्रो सेवा के शुरू होने का अनुमान है. ₹5,180 करोड़ की लागत से सम्पन्न हुए इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन प्रधानमंत्री मोदी करने वाले हैं.

Source: Huffingtonpost