दावत, ख़ुशी का प्रतीक है, इसलिए अकसर शुभ अवसर पर लोगों को भोजन खिलाया जाता है. कोच्चि में मेट्रो के निर्माण में, बाहर से काम करने आए सभी श्रमिकों को केले के पत्ते पर पारम्परिक भोजन कराया गया.

केरल में मेट्रो की शुरुआत, एक बुनियादी परिवर्तन है. जिससे आवागमन में आसानी होगी और ट्रैफ़िक की समस्या भी कम होगी. कोच्चि मेट्रो ने इस भोज के माध्यम से उन सभी के प्रति अपना आभार प्रकट किया, जिन्होंने कोच्चि मेट्रो के निर्माण में अपना योगदान दिया है.

इस भोज में मेट्रो के शीर्ष अधिकारियों के अलावा, MD Elias George भी शामिल हुए. सब लोगों ने एक पंक्ति में बैठकर भोजन करके, महीनों के कड़े परिश्रम के बाद मिली सफ़लता का जश्न मनाया.

और बिना मनोरंजन के भोजन का मज़ा कहां आता है. इसलिए बॉलीवुड के गाने पर जमकर डांस करने के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन हुआ. एक बोर्ड भी लगाया गया, जिसमें कोच्चि मेट्रो के निर्माण में योगदान देने वाले लोगों का नाम लिखा हुआ था.

केरल ने कई चीज़ों में बाकी जगहों के लिए उदाहरण पेश किया है. जिसमें महिला सशक्तिकरण सबसे उल्लेखनीय है. यहां काम करने वालों में, महिलाएं की संख्या काफ़ी ज़्यादा है, जिनमें महिला ट्रेन ड्राइवर तक शामिल हैं. केरल पूर्वाग्रहों को बदलते हुए, ट्रांसजेन्डर्स को भी काम पर रख रहा है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, शनिवार को कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन करेंगे और उसके बाद Palarivattom से लेकर Pathadipalam तक यात्रा भी करेंगे.

Article Source: Facebook/KochiMetro