जहां पाकिस्तान ने ये तय कर लिया है कि वो भारत के पूर्व नेवी ऑफ़िसर, कुलभूषण जाधव को फांसी की सज़ा दे कर रहेगा, वहीं दूसरी तरफ़ भारत इस सज़ा पर रोक लगवाने की हर संभव कोशिश करवा रहा है. भारत सरकार का इस बात पर ज़ोर है कि इस्लामाबाद जो कर रहा है वो गैरक़ानूनी है.

भारत के तथ्यों के अनुसार जाधव को ईरान से गैरक़ानूनी तरीके से किडनैप किया गया है. वो पाकिस्तान की जासूसी नहीं कर रहा था.

बलोच कार्यकर्ता, मेहराब सरजोव जो कि कार्डिफ़ में कलात के राजा के सलाहकार हैं, उन्होंने भी कहा है कि कुलभूषण जाधव को ईरान शासित बलोचिस्तान से ISI द्वारा चबाहर में अगवा किया गया, न कि पाकिस्तान शासित मशकेल से, जिसका दावा इस्लामाबाद कर रहा है. इस घटना को पाकिस्तान ने आम जनता और मीडिया से छुपा कर रखा है. सरजोव ने ये भी कहा कि भारत को पाकिस्तान से निपटने की तरकीब निकालनी होगी.

ज्ञात हो कि 46 वर्षीय कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान के आर्मी कोर्ट द्वारा फांसी की सज़ा सुनाई गई है.

मेहराब सरजोव का वीडियो देखें.


Source: ABP ananda