इन दिनों देश के सभी सीमावर्ती इलाकों में सेना द्वारा हाई अलर्ट घोषित किया गया है. ऐसे में देश की सुरक्षा में तैनात हमारे जवानों की ज़िम्मेदारी और भी बढ़ जाती है. सर्द रातों के अंधेरे में भी हमारे जवान उसी मुस्तैदी के साथ अपनी ड्यूटी को अंजाम देते हैं, जिस तरह सामान्य हालातों में देते हैं.

राजस्थान का थार का रेगिस्तान भी पाकिस्तान के साथ काफ़ी लंबी सीमा बनाता है. इस रेगिस्तानी इलाके में आज कल सर्दियों के दिनों में हाड़ को कंपा देने वाली ठंड पड़ती है. ऐसे में यहां पर इन दिनों बीएसएफ ने 'ऑपरेशन सर्द हवा' चला रखा है. इसकी ख़ास बात ये है कि इस ऑपरेशन में पुरुष जवानों के साथ-साथ महिला जवान भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं.

हड्डियों को जमा देने वाली रेगिस्तानी ठंड में हमारे देश की बहादुर बेटियां हाथों में बंदूक लिए सीमा पर मुस्तैदी के साथ दुश्मन की नापाक हरकतों पर नज़र गड़ाए हुए हैं. इस इलाके में हाल ही में 15 महिलाओं की एक विशेष बटालियन को तैनात किया गया है.

हाल के दिनों में सीमावर्ती इलाके में पाक रेंजरों की हरकतें काफ़ी बढ़ गई हैं, ऐसे में भारतीय जवानों ने भी अपनी निगरानी को और कड़ा कर दिया है. ऐसे में हमारे देश की बहादुर बेटियां भी अपने काम को बड़े जोश के साथ करते हुए अपने आप पर गर्व महसूस कर रही हैं.

किसी जमाने में जिस औरत को घर की चारदीवारी में बंद करके केवल एक सामान समझा जाता था. आज उसी औरत ने अपने दम पर यह मुकाम हासिल किया है कि वो पुरुष के कंधे के साथ कंधा मिला कर चलने लगी है. देख कर वाकई ख़ुशी होती है कि एक औरत समय के साथ स्कूल में मैडम बनने की नौकरियों के अलावा, सीमा पर भी पुरुषों के साथ मुस्तैदी से खड़ी नज़र आ रही हैं.

Source: bhaskar