मंज़िल सैनी को लोग 'लेडी सिंघम' और 'लेडी दबंग' की उपाधि दे रहे हैं, लेकिन हम उन्हें एक ईमानदार और कड़क अधिकारी की ही उपाधि देंगे, जो अपनी ड्यूटी से किसी भी तरह का समझौता नहीं करती हैं, चाहें सामने बड़े से बड़ा व्यक्ति क्यों ना खड़ा हो.

मंज़िल सैनी लखनऊ की पहली महिला SSP रह चुकी हैं और अब वो मेरठ में SSP के पद पर कार्यरत हैं. वो अपने सख़्त रवैये के लिए जानी जाती हैं. इन दिनों उनका एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है, जिसमें वो अपने कुक और ड्राइवर को छुड़ाने आई एक नेता की बोलती बंद करती नज़र आ रही हैं.

इस वीडियो में आप उनका बेबाक़ स्वभाव साफ़ देख सकते है. वो समाजवादी पार्टी की नेता से कहती हुई नज़र आ रही हैं "मुझे मत बताओ मुझे मेरी ड्यूटी कैसे करनी है. मेरे S.O.को कहेगा कि सामने आने की औकात है क्या, तो हम बतायेंगे फिर औकात क्या है. इस तरह नहीं चलेगा. हमें जो करना है हम कर लेंगे".

इस वीडियो के वायरल होने के बाद से लोग उनकी तारीफ़ों के पुल बांधते नज़र आ रहे हैं. तारीफ़ होना लाज़मी भी है, आजकल देश में ऐसे कितने अधिकारी रह ही गए हैं, जो नेताओं की चापलूसी करना ज़रूरी नहीं समझते. इस ईमानदारी के लिए हम उनकी सराहना करते हैं.

इससे पहले UP पुलिस की Circle Officer, श्रेष्ठा ठाकुर का वीडियो भी वायरल हुआ था. बीजेपी के एक कार्यकर्ता का चालान काटने पर जब बाक़ी लोग उनका विरोध कर उन्होंने धमकाने की कोशिश करने लगे, तो श्रेष्ठा डरी नहीं, बल्कि ऐसे जवाब दिया कि सबके मुंह बंद हो गए. उम्मीद करते हैं देश में उनके जैसे और अफ़सर देश को मिलें.

https://www.gazabpost.com/up-police-officer-refused-to-get-bullied

Source: Facebook