धोनी क्रिकेट का एक ऐसा चेहरा है, जिसे नफ़रत करने वाले भी सराहते हैं. भारतीय टीम की कप्तानी छोड़ने के बाद भी वो दुनियाभर में फ़ेमस हैं. उनका खेल किसी भी फॉर्म में हो, लेकिन उनके फ़ैन्स उन्हें सुपर स्टार ही मानते हैं.

ऐसा नहीं है कि 'कैप्टन कूल' का नाम कभी किसी कॉन्ट्रोवर्सी में नहीं आया हो, लेकिन इस बार उन पर आरोप लगाया है IPL के जन्मदाता ललित मोदी ने. ललित मोदी ने सोशल मीडिया पर धोनी का Employment Letter पोस्ट किया है, जिसमें धोनी को India Cement का एक Employee बताया गया है. इस लेटर में उनकी मासिक आय भी लिखी है और उनकी पोस्ट भी.

इस लेटर को पोस्ट कर के ललित मोदी ने BCCI के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन पर कुछ सवाल खड़े किए हैं. ललिक मोदी ने उनसे पूछा है कि क्या ज़रूरत थी धोनी को इस कंपनी में बकायदा जॉब देने की? आखिर एक खिलाड़ी के तौर पर धोनी को टीम के साथ क्यों नहीं रखा गया? इसके पीछे का कारण क्या है?

सोशल मीडिया की पोस्ट के साथ ललित मोदी ने लिखा कि 'जब धोनी हर साल 100 करोड़ से ज़्यादा कमाई कर रहे थे, तो क्या ज़रूरत थी धोनी को ये जॉब देने की? क्या सच में धोनी को इस जॉब की ज़रूरत थी?'

साल 2012 में धोनी को India Cement में Vice President के रूप में नियुक्त किया गया था. लेकिन इसके पीछे का कारण धोनी और श्रीनिवासन ही बेहतर बता सकते हैं.

Image Source: rajnikantvscidjokes