रोज़मर्रा की ज़िन्दगी से उकताकर जब हम कहीं घूमने जाते हैं, तो हमारे दिल और दिमाग़ को सुकून मिलता है. इस सुकून की तलाश में जब हम किसी दूसरे शहर में जाने का Plan बनाते हैं और ठहरने के लिए होटल या Resort ढूंढते हैं, तो हम दो बातों का ख़ास ख़याल रखते हैं. पहला खाना और दूसरा ढेर सारी सुविधाएं.

राजस्थान एक ऐसी ही जगह है जहां हज़ारों देशी-विदेशी पर्यटक हर दिन पहुंचते हैं. आज हम आपको बताएंगे राजस्थान के एक ऐसे Resort के बारे में, जहां आपको रॉयल फ़ील के साथ-साथ शाही खाना और ख़ूबसूरत नज़ारे भी मिलेगें.

ये Resort है राजस्थान के पाली ज़िले में और इसका नाम है 'लक्ष्मण सागर'.

शाही मेहमानों के ठहरने के लिए बनवाया था ये Resort

जिस जगह पर आज लक्ष्मण सागर है, वो जगह 19वीं सदी में शिकारगाह हुआ करती थी. उस वक़्त रायपुर के ठाकुर लक्ष्मण सिंह ने इसे शाही मेहमानों और अंग्रेज़ों के ठहरने के लिए बनवाया था. रायपुर के इस शाही खानदान की परंपरा का निर्वाहन करते हुए, यहां आज भी रुकने वालों के लिए शाही इंतज़ाम किए जाते हैं.

ख़ूबसूरत झील के किनारे बने हैं कॉटेज

यहां मानव निर्मित झील और चीते के शिकार के लिए लगाया गया मचान आपको आज भी अंग्रेज़ों के ज़माने की याद दिलाएगा. यहां 12 कॉटेज हैं. ये कॉटेज मिट्टी और पत्थर से बनाए गए हैं. इनकी राजस्थानी ख़ूबसूरती और आस-पास की हरियाली आपका मन मोह लेगी. इनमें प्राइवेसी का विशेष ख़याल रखा गया है.

इन 12 Cottages को 2 हिस्सों में बांटा गया है. झील के दोनों तरफ़ 6-6 कॉटेज हैं. हर कॉटेज के लिए एक प्राइवेट पूल भी है. यहां के कुशन कवर से लेकर टेबल-चेयर तक सबकुछ किसी विदेशी ब्रांड के बजाय, यहां के स्थानीय लोगों ने बनाया है.

खाने-पीने के शाही इंतज़ाम के साथ उम्दा शराब

लक्ष्मण सागर में खाने-पीने का उम्दा इंतज़ाम है. यहां की ख़ास बात ये है कि यहां आपको फ़ास्ट फ़ूड नहीं मिलेगा, बल्कि प्यार से पकाया गया भारतीय और ख़ासकर राजस्थानी खाना मिलेगा. यहां मर्द और औरतों के खाने के लिए दो अलग जगहें बनाई गई हैं, जिन्हें 'मर्दाना' और 'ज़नाना' नाम दिया गया है. इसके अलावा आप खाना अपने कॉटेज में, झील के किनारे या रायपुर के क़िले में खा सकते हैं. यहां उम्दा किस्म की स्थानीय शराब भी परोसी जाती है.

यहां आप Bird Watching, Fishing, Hiking, Horse Riding और Safaris का आनंद ले सकते हैं. राजस्थान की तपती गर्मी को देखते हुए, इसे मई से जुलाई तक बंद रखते हैं. मगर नवम्बर के बाद यहां कभी भी जा सकते हैं. हनीमून के लिए ये जगह ख़ास है क्योंकि यहां का शाही माहौल और प्राइवेसी आपको एक अलग ही दुनिया जैसी मालूम पड़ेगी.

Image Source: booking

Article Source: tripoto