पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने शुक्रवार को ही यौन शोषण मामले में आरोपी बनाये गये गुरमीत राम रहीम सिंह दोषी करार दिया, जिसके बाद उनको डेरा समर्थकों द्वारा की गई हिंसा के बावजूद कोर्ट से सीधे जेल ले जाया गया. फ़िलहाल बाबा की सजा पर फ़ैसला 28 अगस्त तक स्थगित कर दिया गया है.

राम रहीम के दोषी करार दिए जाने के साथ एक बार फिर उस लड़की की गुमनाम चिट्ठी सुर्ख़ियों में आई है, जिसने बाबा की सच्चाई को 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी तक पहुंचाया था. इस खत में लड़की ने बताया था कि वो पंजाब की रहने वाली है और पिछले पांच साल से डेरा सच्चा सौदा के सिरसा आश्रम में साध्वी के रूप में सेवा कार्य कर रही थी. लड़की ने ख़त में बताया कि उसकी तरह की सैकड़ों लड़कियां डेरे में 16 से 18 घंटे तक सेवा करती हैं, पर इन सब के बीच उसने ये भी कहा कि उसके साथ-साथ यहां रहने वाली 40 से 45 लड़कियों के साथ डेरे के महाराज गुरमीत सिंह द्वारा यौन शोषण किया जा रहा है. लड़की ने ये भी बताया कि वो बीए पास है, जबकि उसके परिवार के सदस्य राम रहीम के अंधभक्‍त हैं, जिनकी वजह से उसे डेरे में साध्वी बन कर रहना पड़ रहा है.

Source: hindustan

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, केस की सुनवाई के समय भी डेरे से जुड़ी कई ऐसी सच्चाई सामने आयीं, जिसने भक्ति की आड़ में महिलाओं के साथ हो रहे दुराचार को उजागर किया. सुनवाई के दौरान ये भी पता चला कि बाबा 'गुफ़ा' नाम की एक जगह पर रहा करते थे, जहां वो लड़कियों के साथ बलात्कार जैसी घटनाओं को अंजाम दिया करते थे. इसके लिए बाबा 'माफ़ी' शब्द का इस्तेमाल किया करते थे. बाबा की गुफ़ा में सिर्फ़ महिलाओं को ही सुरक्षा में लगाया जाता था.

हरियाणा के यमुनानगर की रहने वाली एक पीड़िता के मुताबिक, वो अपने भाई की वजह से ही डेरे में 1999 में साध्वी बन कर आई थी, पर बाबा ने उसके साथ भी यौन शोषण किया. अपनी बहन को इंसाफ़ दिलाने के लिए आगे आये लड़की के भाई की डेरे में ही समर्थकों द्वारा हत्या कर दी गई. पहले पीड़िता भी 'माफ़ी' से अनजान थी, फिर 28 और 29 अगस्त 1999 को बाबा के समर्थकों ने उसे गुफ़ा में भेजा, जहां बाबा द्वारा लड़की का बलात्कार किया गया.

गुमनाम रूप से लिखी गई चिट्ठी में भी एक ऐसे ही दर्दनाक वाकये का ज़िक्र है. इस लड़की ने बताया कि 'साध्वी बनने के दो साल बाद एक दिन राम रहीम सिंह ने रात के 10 बजे मुझे गुफ़ा में बुलाया है. मैं पहली बार बाबा के इतने करीब जा रही थी इसलिए मैं भी बहुत खुश थी. गुफा में जा कर जब मैंने बाबा को देखा, तो उनके हाथ में रिमोट और बेड के सिरहाने पर रिवॉल्वर रखा हुआ था. मैं ये सब देख कर हैरान हो गई. बाबा ने टीवी बंद किया और मुझे पास बैठने को कहा. इसके बाद बाबा ने मुझे जान से मारने की धमकी दे कर मेरे साथ बलात्कार किया.'

अभी कोर्ट ने भी बाबा को दोषी करार दिया है, पर फ़ैसला आना अभी बाकी है. हालांकि सब जानते हैं कि फ़ैसला क्या होगा! पर फ़िलहाल आगे देखना है कि ये मामला कहां तक जाता है?