क्रिकेट के फ़ैन्स जिस तरह से सचिन की पूजा करते हैं, वैसा ही प्यार फ़ुटबॉल से प्यार करने वालों का Messi के लिए है. दुनिया के सबसे बेहतरीन फ़ुटबॉलर्स में उनका नाम सबसे ऊपर लिया जाता है. दीवानों की तरह लोग उनके पीछे पागल हैं. भारत में भी इनके कई दीवाने हैं. लेकिन Messi की ज़िंदगी हमेशा से ही स्टारडम के साथ शुरू नहीं हुई थी. इनके बारे में कई ऐसे तथ्य हैं, जिन्हें शायद हर कोई नहीं जानता होगा.

1. इनका पूरा नाम Lionel Messi नहीं, बल्कि Lionel Andres Messi है.

2. Lionel Andres Messi का जन्म अर्जेंटीना में हुआ है, लेकिन मूल रूप से वो इटली के हैं. उनके पिता काम के सिलसिले में अर्जेंटीना शिफ़्ट हुए थे.

3. बार्सिलोना के लिए खेलने वाले तीसरे सबसे युवा खिलाड़ी थे. जब Messi ने अपना पहला मैच इस क्लब से खेला तब उनकी उम्र मात्र 17 साल थी. अपने पहले ही मैच में गोल करने वाले Messi क्लब के सबसे युवा खिलाड़ी थे, जिन्होंने गोल किया था.

4. Messi बचपन से ही फ़ुटबॉल के दीवाने थे. लेकिन बहुत छोटी उम्र में ही उनकी ग्रोथ रुक गई थी. उनके पैर पूरी तरह से बढ़ नहीं रहे थे. उन्हें दौड़ने, यहां तक की चलने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ता था. उन्हें हर महीने इसके इलाज के लिए 900 डॉलर ख़र्च करने पड़ते थे. बार्सिलोना क्लब ने उस वक़्त Messi की के पिता की मदद की थी.

5. बार्सिलोना के साथ उनके कॉन्ट्रैक्ट साइन की कहानी भी काफ़ी शानदार है. बार्सिलोना को Messi इतने पसंद थे कि उन्हें इस खिलाड़ी को हर हाल में साइन करना था. जब उनकी मीटिंग हुई, तब वहां कोई कागज़ न होने की वजह से बार्सिलोना के स्पोर्ट डायरेक्टर Carles Rexach ने खुद नैपकिन पेपर पर कॉन्ट्रैक्ट बनाया, जिस पर Messi ने साइन किए थे.

6. Messi न सिर्फ़ अर्जेंटीना के, बल्कि स्पेन के भी नागरिक हैं. उन्हें दोहरी नागरिकता हासिल है.

7. साल 2005 में Messi ने अंतर्राष्ट्रीय फ़ुटबॉल में पदार्पण किया था. उन्हें Substitute के तौर पर दूसरे हाफ़ में मौका मिला था. लेकिन 47 सेकेंड के अंदर ही उन्हें रेड कार्ड मिल गया था. उनका ये सुनहरा मौका दुखद सपने की तरह ख़त्म हुआ था.

8. 2008 के बिज़िंग ओलम्पिक में Messi अर्जेंटीना टीम का हिस्सा थे. इस टीम ने ओलम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता था. मैच का फ़ाइनल अर्जेंटीना बनाम नाइजिरिया था. इस मैच में एक मात्र गोल Angel de Maria ने किया था और उन्हें बॉल पास की थी Messi ने.

9. तीन European गोल्ड बूट, चार Ballon d’Or अवॉर्ड, 1 FIFA फ़ुटबॉलर ऑफ़ दी इयर जैसे अवॉर्ड्स Messi की झोली में हैं.

10. 6 La Ligas, 2 Copas del Rey, 5 Supercopas deEspana, 3 UEFA Champions Leagues, 2 UEFA Super Cups और 2 Club World Cups. इन सब जीतों में बार्सिलोना क्लब की जीत में Messi का अहम योगदान रहा है.

11. साल 2012 में Messi ने 66 मैचों में कुल 86 गोल दागे थे. ये अब तक एक सीज़न में मारे गए गोलों में सबसे ज़्यादा हैं. इस रिकॉर्ड को इनके साथ साझा किया था इंग्लैड़ के खिलाड़ी Vivian Woodward ने.

12. वर्ल्ड कप में Messi गोल मारने वाले छठे सबसे युवा खिलाड़ी भी हैं. उनकी तेज़ रफ़्तार के कारण उनके फ़ैन्स उन्हें “The Flea” बुलाते हैं.

13. पिछले फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप में स्पेन ने उन्हें अपनी ओर से खेलने का ऑफ़र दिया था. लेकिन उन्होंने अर्जेंटीना की तरफ़ से खेलने का फ़ैसला लिया. वैसे अर्जेंटीना के लोग उन्हें ख़ासा पसंद नहीं करते, लेकिन गोल्डन बॉल जीतने के बाद लोगों का रुख उनके प्रति कुछ बदला ज़रूर है.

14. जापान के Jeweler Ginza Tanaka ने Messi के बाएं पैर का गोल्डन फ़ुट बनाया था, जिसकी कीमत 5.25 मिलियन डॉलर थी. ये रकम 2011 में आई सुनामी के पीड़ितों को दान में दी गई थी.

15. बार्सिलोना कल्ब Messi को किसी भी कीमत पर खोना नहीं चाहता था, इसलिए उन्होंने इस खिलाड़ी को बेचने की कीमत 250 मिलियन डॉलर रखी है. इस रक़म को फ़ुटबॉल के सबसे बड़े कल्ब Manchester United और Real Madrid भी देने के लिए दो बार सोचेंगे.

16. दुनिया के सबसे छोटे कद के फॉर्वड खिलाड़ी हैं Messi. मगर उनकी छोटी हाइट उनके खेल के आड़े कभी नहीं आई. अने तेज़प दिमाग और बिजली सी रफ़्तार के कारण वो दुनिया के सबसे बेहतरीन फॉर्वड भी बन गए.

17. Messi अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ स्पेन में रहते हैं. उनकी पत्नी और वो एक-दूसरे को 5 साल की उम्र से जानते हैं. साल 2009 में ये दोनों रिलेशनशिप में आए. 2012 में उनका पहला बेटा हुआ. साल 2015 में उनकी पत्नी ने दूसरे बेटे को जन्म दिया. उनकी पत्नी Antonella एक मॉडल हैं.

18. 2007 में Messi ने एक संस्था खोली, जिसमें वो दिव्यांग बच्चों की मदद करते हैं. Messi, UNICEF के ब्रांड एंबेसडर भी हैं.

19. Messi ने अपने पैर पर एक टैटू बनवाया है, जिस पर उनके बेटे का नाम लिखा है. हांलाकि, मैच के दौरान मोज़ो की लम्बाई के कारण वो दिखता नहीं है.

20. बार्सिलोना के तरफ़ से खेलते हुए उनकी जर्सी का नंबर पहले 30 था. मगर अपने खेल और साथी खिलाड़ी रोनाल्डिनो के सन्यास के बाद साल 2008 में उन्हें 10 नंबर की जर्सी मिली. ये नंबर टीम के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी को दिया जाता है.

Image Source: listsurge