कोरोना वायरस का संकट जबसे देश पर मंडरा रहा है तबसे देश आर्थिक रूप से कमज़ोर हो चुका है. लोगों की नौकरियां चली गईं. व्यापार बंद हो गए. इसके चलते उन्हें अपना गुज़ारा करने के लिए दूसरे काम करना शुरू करना पड़ा.

हाल ही में फ़िल्म 'ग़ुलाम' के एक्टर की सब्ज़ी बेचने की ख़बर आई थी, वो अपने वीडियो में फ़िल्म 'रईस' का डायलॉग बोल रहे थे कि कोई 'धंधा छोटा या बड़ा नहीं होता'. ये बात तो सही है, ऐसे ही कुछ मुंबई के लोग हैं जिनके इस संकट के दौर में बड़े-बड़े बिजनेस ठप्प हो गए और अब वो कुछ अलग काम करने को मजबूर हैं.

1. कोरोना वायरस के चलते मुंबई की रहने वाली ब्यूटीशियन मधु सिंह के पार्लर में कस्टमर्स की कमी होने लगी. इसके चलते अपना घर चलाने के लिए उन्हें पार्लर को किराने की दुकान में बदलना पड़ा.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

2. लॉकडाउन के चलते प्रोजेक्ट कम मिलने पर वसई की रहने वाली फ़्रीलांस इलस्ट्रेटर श्रुति राणे ने कप केक बनाना शुरू किया और अब ये भी उनकी आय का सोर्स बन गया है.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

3. मुंबई की Entrepreneur रंजन देधिया हैंडमेड साबुन और बास्केट बनाने का काम करती थी, लेकिन कोरोना वायरस के चलते कस्टमर्स की कमी हुई और उन्होंने अपने बिज़नेस को बदल दिया. अब वो हैंड-सैनिटाइज़र का बिज़नेस करती हैं.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

4. फ़्रीलांस फ़ोटोग्राफ़र मुंबई के रहने वाले समीर जोशी ने काम की कमी होने पर सी फ़ूड बेचने का काम शुरू कर दिया. समीर थोक बाज़ार से मछली ख़रीदकर मुंबई में कस्टमर्स को मछली बेचते हैं.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews
COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

5. मुंबई के टैक्सी ड्राइवर दीपक पाठक ने सवारियां कम मिलने के चलते अपनी टैक्सी में मास्क बेचने का काम शुरू कर दिया. अब वो टैक्सी में सवारियों को बिठाने की जगह मास्क बेचते हैं.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

6. कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण ट्रैवल और टूर कंपनी में काम की कमी होने पर मुंबई की प्रणिता पाटिल ने घर पर टिफ़िन बनाने का काम शुरू किया है.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

7. मुंबई के रहने वाले Lunch Home के को-ओनर और शेफ़ अमित हरलकर और Pest Control Firm के मालिक विक्रांत उगादे दोनों ने मिलकर मछली बेचने का काम शुरू किया. अब वो कस्टमर्स को कच्ची मछली पैक करके होम डिलीवरी करते हैं.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

8. मुंबई के फ़िल्म निर्माता पुष्कर विश्वासराव और निमेश विश्वासराव दोनों पेशे से ट्यूटर हैं. कोरोना वायरस के संकट के चलते इन दोनों ने निमिश होम डिलीवरी नाम की कंपनी खोली और अब आजीविका चलाने के लिए सब्जियां और स्नैक्स बेचते हैं.

COVID -19 has made these Indians pick up an alternative career.
Source: gulfnews

Life के और आर्टिकल पढ़ने के लिए ScoopWhoop हिंदी पर क्लिक करें.