दुती चंद एक अंतरराष्ट्रीय स्तर की धावक हैं और सार्वजिनक तौर पर समलैंगिक संबंध को कबूल करने वाली पहली भारतीय एथलीट है.

Source: DNA India

2018 एशियन खेल में दुती चंद ने दो रजत पदक जीते थे. वो दुनिया की चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं, जिन्होंने अपने समलैंगिक होने की बात सबके सामने रखी है.

अंतरराष्ट्रीय फ़ैशन मैगज़ीन Cosmopolitan ने अपने भारत के जून के अंक में दुति चंद को अपने कवर पर जगह दी. दुती ने काले रंग का Athletic Active-Wear पहना है और इंद्रधनुषी रंग का Shrug. ये अंक जून का है और जून महीने को अंतरराष्ट्रीय प्राइड मंथ के तौर पर मनाया जाता है.

View this post on Instagram

Ace sprinter @duteechand is the digital cover star of our July 2019 issue. Recently, she became the first Indian sportsperson to openly declare that she’s in a same-sex relationship. In an exclusive interview with Cosmo India, Dutee opens up about her journey as an athlete, her coming-out story, and more. Issue on stands now. ✨ Editor: Nandini Bhalla (@nandinibhalla) Fashion Stylist: Zunaili Malik (@zunailimalik) Photographer: Sushant Chhabria (@sushantchhabria) Hair & Makeup: Maniasha at Faze Management (@bymaniasha) Interview: Sreeparna Mazumder (@sreeparna.mazumder) Dutee is wearing sports bra: Superdry Sports (@superdryindia); shorts, Fila (@filaindia); cape: Namrata Joshipura (@namratajoshipura) . . . . . . #DuteeChand #OnlyInCosmo #CosmoIndia #lgbtq #pride #loveislove

A post shared by Cosmopolitan India (@cosmoindia) on

इंस्टाग्राम पर अपलोड की गई तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा गया है- 'भारत का चमकता सितारा और पहली समलैंगिक एथलीट.'

भारत जैसे देश में सार्वजनिक जीवन में रहते हुए और अपने करियर की ऊंचाई पर खड़ी दुती ने अपनी वास्तविकता दुनिया के सामने रख कर औरों के लिए मिसाल कायम की है. इससे उन लोगों के हौसला मिलेगा, जो बात खुल कर नहीं रख पाते.

News18 को दिए साक्षात्कार में दुती ने कहा, 'मैं जो कर रही हूं वो ग़लत नहीं है, न ही ग़ैर क़ानूनी है.'

Source: dailyindia

इससे पहले भी इस नेशनल रिकॉर्ड होल्डर के रास्ते में रुकावटें आई थी, जिन्हें उन्होंने एक विजेता की तरह पार किया. दुती ने साबित किया है कि उनकी ज़िंदगी की कहानी सिर्फ़ Sexuality भर नहीं है, वो अपने खेल की एक बड़ी खिलाड़ी हैं.

साल 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में अंतिम समय में दुती को डिसक्वालिफ़ाई कर दिया गया था. Athletic Federation of India के अनुसार, Hyperandrogenism की वजह से दुती महिला श्रेणी में नहीं भाग नहीं ले सकती. इसी वजह से उन्हें 2014 एशियन गेम्स से भी बाहर रखा गया. हालांकि दुती के ऊपर किसी प्रकार का डोपिंग का चार्ज नहीं था. साल 2015 में खेल के नियम बदल गए और दुती चंद वापस ट्रैक पर आईं और शानदार तरीके से वापसी की.