त्योहारों के देश भारत को उसके सौहार्दता के लिए भी जाना जाता है, यहां पग-पग पर आपको भाईचारे के किस्से सुनने को मिलते हैं.

अभी परसों की बात है, बंगाल के एक पत्रकार मुहम्मद रियाज़ घर वालों के साथ इफ़्तारी के लिए बैठे तभी दरवाज़े की घंटी बजी, चिढ़ कर उनकी अम्मी दरवाज़ा देखने गईं. वहां उनके पड़ोसी खड़े थे, उनके हाथ में अलग-अलग पकवानों से सजी एक थाली थी.

मोहम्मद रियाज़ के एक जैन पड़ोसी ने उनके परिवार के लिए इफ़्तारी तैयार की थी. इस तस्वीर को उन्होंने 'KnowYourNeighbour' हैश टैग के साथ ट्वीट किया था. ऑनलाइन एक अभियान के रूप में इसे ख़ासकर बंगाल में संप्रदायिकता के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए चलाया जा रहा है.

इस तस्वीर को 1800 लोगों ने री-ट्वीट किया और लगभग दस हज़ार लोगों ने लाइक किया. 400 को ऊपर ट्विटर यूज़र्स ने तारीफ़ भरे शब्दों में इस फ़ोटो पर कमेंट किया.

कुछ ट्विटर यूज़र्स ने इस भाईचारे को 'सच्चा राष्ट्रवाद' बताया, कुछ को ये नफ़रत के माहौल को ख़त्म करने का एक तरीका लगा.