अगर हम लड़कियों के पीरियड नहीं होते, तो शायद लोगों के पास बोलने के लिए कुछ होता ही नहीं. क्योंकि दुनिया में कुछ भी हो किसी के साथ कोई दर्दनाक हादसा हो, वो उस दर्द की तुलना पीरियड के दर्द से करता है, नहीं तो रेप और डिलीवरी के दौरान होने वाले दर्द से करता है.

Source: todayifoundout

ऐसा ही कुछ हमारे भाईजान सलमान ख़ान ने सुल्तान की शूटिंग के दौरान एक बयान में कहा था, कि जब पहलवान उन्हें पटकते थे, तो लगता था मानों उनके साथ बलात्कार हो रहा हो. ऐसा ही एक बार फिर हुआ है. एक ट्विटर यूज़र @_sargee ने अपने ट्विटर अकाउंट पर सॉकर के खिलाड़ी की फ़ोटो पोस्ट की जिसमें वो गिर गया है और उसके घुटने पर चोट है. इसका कैप्शन दिया, कि महिलाएं अपने पीरियड के दर्द के बारे में शिकायत करना छोड़ दें. पीरियड के दर्द से बड़ा होता है घुटने का दर्द है. इस ट्वीट के बाद लोगों ने इसे ट्रोल करना शुरू कर दिया.

ग्रूवी तासिया नाम की यूज़र ने लिखा, जब मैं 8 साल की थी, तो मुझे घुटने पर चोट आई थी, जिस दाग को कई सालों तक मैंने सहा. इसके बाद मेरे अंगूठे में फ़्रैक्चर हुआ, फिर मैं जल गई और न जाने कितना कुछ. मगर जब मेरे पीरियड आए, तो उसमें जो दर्द हुआ उसकी तुलना किसी से नहीं की जा सकती है. मुझे माफ़ करना, लेकिन तुम बहुत कमज़ोर हो.

काइली नाम के यूज़र ने लिखा, मैंने कभी किसी महिला को उसके पीरियड के दर्द के बारे में बात करते नहीं सुना.

येलेना नाम की यूज़र ने लिखा, महिलाएं भी सॉकर खेल सकती हैं.

ऐसे बहुत सारे ट्वीट हैं, जिन्हें आप नीचे पढ़ सकते हैं:

आपको बता दें, पीरियड में होने वाला दर्द कोई मामूली दर्द नहीं होता. इसकी वजह से महिलाओं को Dysmenrrhea बीमारी से गुज़रना पड़ता है. इसमें क्रैम्प, सिर दर्द, बैक पेन और डायरिया होने के संभावनाएं होती हैं. Prostaglandins के कारण ऐठन होती है. ये यूट्रस के द्वारा बनने वाला एक कैमिकल होता है, जो मांसपेशियों को कसने का काम करता है.