उत्तर भारतीय नवरात्री के साथ-साथ दुर्गा पूजा को भी बड़े धूमधाम से मनाने लगे हैं. पिछले कुछ सालों में दिल्ली-NCR में सिर्फ़ दुर्गा पूजा ही नहीं नवरात्री के मौके पर डंडिया भी खूब खेला जाता है. लेकिन दुर्गा पूजा का एक अलग ही माहौल होता है. मां दुर्गा के बड़े-बड़े पंडाल, रंगारंग कार्यक्रम, खाने पीने की बेहतरीन डिशेज़ इसकी ख़ासियत है. आलूर तोरकारी, सोन्देश, बेगुन भाजा और कोलर बोरा जैसी ख़ास डिशेज़ आपको सिर्फ़ दुर्गा पूजा के दौरान ही मिलेंगी.

दिल्ली-NCR में आज से नहीं बल्कि पिछले कई दशकों से दुर्गा पूजा बड़े धूम-धाम से मनाई जाती है. सिर्फ़ बंगाली ही नहीं उत्तर भारतीय भी इसे धूम-धाम से मनाते हैं.

आज हम आपको दिल्ली-NCR के 10 सबसे ख़ास 'दुर्गा पूजा पंडाल' के बारे में बताने जा रहे हैं-  

1- कश्मीरी गेट (पुरानी दिल्ली) 

'दुर्गा पूजा चैरिटेबल एंड कल्चरल समिति' द्वारा दिल्ली के कश्मीरी गेट में पिछले 110 सालों से हर साल मां दुर्गा का पंडाल लगता है. ये दिल्ली का सबसे पुराना दुर्गा पूजा पंडाल है. सन 1910 में इसकी शुरुआत हुई थी. षष्ठी के दिन 4 अक्टूबर को शाम 6 बजे से यहां पर 'आनंदा मेला' भी मनाया जाएगा. जबकि चौथे से लेकर नौवें दिन तक सुबह के 11 बजे से लेकर दोपहर 1:30 बजे तक आप यहां प्रसाद और भोग भी मिलेगा. 

2- मारुती विहार (गुरुग्राम) 

गुरुग्राम के सेक्टर 28 स्थित मारुति विहार में साल 1991 से हर साल दुर्गा पूजा बड़े धूम-धाम से मनाई जाती है. सेक्टर 28 एम. जी रोड मेट्रो से बेहद क़रीब भी है. ऐसे में आने जानी की कोई दिक्कत नहीं है. सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए यहां हर साल बंगाल से ख़ासतौर पर कलाकार बुलाए जाते हैं. 4 से लेकर 7 अक्टूबर तक हर शाम 7:30 से लेकर रात 11 बजे तक तक यहां के मेंबर्स को भोग मिलता है. 

3- सी.आर पार्क (दिल्ली) 

'चित्तरंजन पार्क काली मंदिर सोसाइटी' द्वारा आयोजित कालीबाड़ी की दुर्गा पूजा दिल्ली-NCR में बेहद प्रसिद्ध है. इस दौरान आप यहां के ख़ास 'Dhunuchi Naach' का हिस्सा भी बन सकते हैं. सी.आर पार्क वैसे भी अपने ख़ास बंगाली खाने के लिए भी जाना जाता है. पूजा के दौरान आलू पोश्तो, बेगुन भाजा और माछेर झोल का लुत्फ़ उठा सकते हैं. 

4- सुशांत लोक (गुरुग्राम) 

सुशांत लोक के सेक्टर 43, सी ब्लॉक, कम्युनिटी सेंटर की दुर्गा पूजा भी बेहद प्रसिद्ध है. सुशांत लोक की दुर्गा पूजा को मॉर्डन दुर्गा पूजा भी कहा जाता है. इस मौके पर यहां हर साल नाटक, सिंगिंग और डांसिंग प्रोग्राम भी आयोजित किये जाते हैं. 4 से लेकर 7 अक्टूबर तक यहां पंडाल घूमने का आनंद ले सकते हैं. इस साल 5 अक्टूबर को महा सप्तमी के दिन रात 8.30 बजे से फ़ेमस बंगाली बैंड 'Gaaner Guto' प्रस्तुति देगा. 

5- सेक्टर-56 (गुरुग्राम) 

गुरुग्राम के सेक्टर-56 स्थित दुर्गा पूजा अपने बेहद ख़ास पंडाल के लिए जानी जाती है. इस दौरान 'बंग्या परिषद' की इस ख़ास पूजा में कई तरह के लाइव कार्यक्रम भी होते हैं. सेक्टर-56 स्थित दुर्गा पूजा पंडाल मोर सुपर मार्किट के करीब ही स्थित है. 

6- सफ़दरजंग इन्क्लेव (दिल्ली) 

दिल्ली के सफ़दरजंग इन्क्लेव की दुर्गा पूजा भी साउथ दिल्ली में बेहद प्रसिद्ध मानी जाती है. 'मातृ मंदिर समिति' इस साल 53वीं बार दुर्गा पूजा का आयोजन करने जा रहा है. 

7- मयूर विहार -1 (दिल्ली) 

ईस्ट दिल्ली के मयूर विहार फेज़ 1 की दुर्गा पूजा दिल्ली-NCR में बेहद फ़ेमस है. मयूर विहार की दुर्गा पूजा 'मालिनी पूजा कमिटी' द्वारा आयोजित की जाती है. नोएडा से बेहद करीब होने के चलते भी यहां हर साल लोगों की काफ़ी भीड़ देखी जाती है. मयूर विहार फेज़ 1 मेट्रो के सामने ही दुर्गा पूजा का पंडाल लगता है. 

8- तिमारपुर, सिविल लाइन्स (दिल्ली) 

तिमारपुर की दुर्गा पूजा में आपको आर्टिस्टिक थीम वाले पंडाल देखने को मिलेंगे. करीब 100 सालों से यहां अलग-अलग थीम वाले पंडाल लगाए जा रहे हैं. सिविल लाइन्स के 33, राजपुर रोड स्थित ये दुर्गा पूजा भी दिल्ली में बेहद प्रसिद्ध है.

9- मिंटो रोड (दिल्ली) 

'मिंटो रोड पूजा समिति' द्वारा आयोजित दुर्गा पूजा भी पिछले कई सालों से आयोजित की जा रही है. दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस के बाराखंबा की ये दुर्गा पूजा भी अपने ख़ास पंडाल के लिए जानी जाती है. 

10- वैशाली सेक्टर 4 (ग़ाज़ियाबाद) 

वैशाली सेक्टर 4 की कालीबाड़ी दुर्गा पूजा भी दिल्ली NCR में बेहद फ़ेमस है. 'वैशाली कल्चरल एसोसिएशन' द्वारा किए गये प्रयासों के परिणाम स्वरूप ही इसे 'वैशाली कालीबाड़ी' के नाम से भी जाना जाता है. वैशाली कालीबाड़ी' दुर्गा पूजा 4 अक्टूबर से शुरू होकर 9 अक्टूबर को ख़त्म होगी. 

ये थी हमारी कोशिश. अगर आपकी नज़र में भी दिल्ली NCR के कोई बेस्ट 'दुर्गा पूजा पंडाल' हैं तो हमारे साथ शेयर करें