यह धरती छोटी-बड़ी कई भयावह घटनाओं की गवाह रही है. इनमें भयानक प्राकृतिक आपदाओं से लेकर इंसानों द्वारा मचाए गए उत्पात भी शामिल हैं. वहीं, इतिहास में कुछ ऐसी भी भयानक घटनाएं घट चुकी हैं, जिनका प्रभाव पीड़ितों के परिवारों के ज़ेहन में आज भी बना हुआ है. विश्व युद्ध ऐसी ही घटना रही है, जिसकी भयावह यादें और तस्वीरें आज भी इंसानों की रूह को कंपा देने का काम करती हैं. 

वहीं, इस बीच इंसानों की रक्षक प्रकृति इन काली यादों को भी मिटाने में सहयोग करती है. कैसे, ये आपको इन तस्वीरों को देखकर पता लग जाएगा. आइये, देखते हैं वो दुलर्भ तस्वीरें जिसमें प्रकृति स्वयं द्वितीय विश्व के अवशेषों को मिटाने में लगी है.

1. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस्तेमाल हुआ यह चाकू उस समय की दर्दनाक घटना को अपने अंदर लिए बैठा है. इसे प्रकृति पूरी तरह मिटाने में लगी है. 

Knife during world war 2
Source: ranker

2. दशकों तक मिट्टी में दफ़न रहे रूसी गोले बारूदों के अवशेष. 

remains of world war 2
Source: ranker

3. यह बंदूक द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान किसी सैनिक की रही होगी, जिसे प्रकृति नष्ट करने के पूरे प्रयास में है. 

remains of world war 2
Source: ranker

4. यह फावड़ा द्वितीय विश्व युद्ध के सैन्य अभियान के दौरान इस्तेमाल किया गया होगा, जिसे प्रकृति ने अब अपने गिरफ़्त में ले लिया है. 

remains of world war 2
Source: ranker

5. द्वितीय विश्व युद्ध के सैनिक का हेलमेट जिसे प्रकृति निगलने में लगी है. 

remains of world war 2
Source: ranker

ये भी देखें : ये 20 तस्वीरें सुबूत हैं कि इस धरती पर प्रकृति से बलवान और कोई नहीं

6. यह भी किसी सैनिक का हेलमेट है, जो उस वक़्त यहां गिरा होगा जब यह पेड़ एक पौधा था. 

remains of world war 2
Source: ranker

7. ग्रेनेड को निगलता पेड़. 

grenade during world war
Source: ranker

8. 75mm Field Gun के खोल को अपने अंदर समाता पेड़. 

shell of 75 mm field gun and nature
Source: ranker

9. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस्तेमाल हुई यह बंदूक जिसे प्रकृति ने वर्षों से जकड़ कर रखा है. 

gun during world war 2
Source: ranker

10. Maxim Gun का अधिकांश हिस्सा पेड़ निगल चुका है. 

maxim gun
Source: ranker

उम्मीद करते हैं इन सभी तस्वीरों ने आपको ज़रूर प्रभावित किया होगा. इन तस्वीरों को देखकर आपके अंदर क्या विचार आए, हमें कमेंट में जरूर बताएं.