अकसर लोगों से सुना होगा कि अरे ये, तो अपने पापा जैसी है. आपका बेटा बिल्कुल आप पर गया है बहनजी. जैसे चेहरे और कुछ-कुछ आदतें हमारी अपने पेरेंट्स से मिलती हैं वैसे ही कुछ बीमारियां या शारीरिक लक्षण होते हैं, जो माता-पिता से मिलते-जुलते होते हैं. 

Source: momspresso

जान लीजिए कौन-सी हैं वो बीमारियां: 

1. Pimply Skin

Source: pixabay

80 प्रतिशत से ज़्यादा लोग मुहांसे की समस्या से जूझते हैं. ये Environmental और Genetic दोनों वजह से हो सकते हैं. अगर आप बढ़ती उम्र की ओर हैं और आपको मुहांसे हो रहे हैं, तो डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं. 

2. कैवेटीज़

Source: health

Delta Dental के विशेषज्ञों के अनुसार, कभी-कभी दांतों की समस्या स्किपिंग फ़्लॉसिंग के कारण होती है, लेकिन कभी-कभी ये पेरेंट्स में किसी एक को होने के कारण भी होती है. 

3. बेहोश होना

Source: health

अगर आपके पेरेंट्स में ज़्यादा दुखी होने पर और एक्सरसाइज़ के दौरान तक जाने पर बेहोश की समस्या है, तो ये आपको भी हो सकती है. ये Heart-Rhythm Disorder के लक्षण हैं जिन्हें Long QT Syndrome के रूप में जाना जाता है.

4. तिल (Moles) 

Source: self

Mount Sinai और Mount Sinai Hospital के Icahn School Of Medicine की MD Lisa Anthony के अनुसार, 50 या 100 से अधिक मोल्स शरीर में मेलेनोमा के जोखिम को बढ़ाते हैं. तो वहीं Dr. Anthony का कहना है कि एक Atypical Mole एक असामान्य दिखने वाला तिल है, जिसमें मेलेनोमा की कुछ विशेषताएं हैं, जैसे कि गहरे रंग या अनियमित सीमाएं, लेकिन ये कैंसर नहीं है.

5. हार्ट से जुड़ी समस्या

Source: needhamgastro

क्रोनिक हार्टबर्न या रिफ़्लक्स बहुत अधिक मसालेदार खाना खाने से हो सकता है. ये वंशानुगत एलर्जी का परिणाम हो सकता है. Ohio State University की MD Princess Ogbogu का कहना है कि, Eosinophilic Esophagitis एक एलर्जी है जो परिवार के सदस्यों से एक-दूसरे में हो सकती है. मगर इसका मूल कारण Esophagus में सूजन या फिर Acid Reflux हो सकता है. Esophagus से जुड़ी एक स्थिति एसोफ़ैगल कैंसर भी हो सकती है, ये आनुवांशिक भी हो सकती है. इस बीमारी से जुड़े अध्ययनों ने रोग से संबंधित तीन अलग-अलग आनुवंशिक उत्परिवर्तन को बताया है.

6. मौसमी एलर्जी

Source: npr

परिवार के सदस्यों में एलर्जी होना बहुत आम बात है, जिसमें खाने से जुड़ी और मौसमी एलर्जी अनुवांशिक होती हैं. Dr. Ogbogu कहती हैं, हालांकि के इसके और भी कारक होते हैं, जिनसे एलर्जी या फिर जिनको एस्थमा है उन्हें दिक्कत होती है. जैसे, वायरल संक्रमण, तंबाकू का धुआं, बिल्लियों, कुत्तों और कॉकरोच से एलर्जी शामिल हैं. दवा से होने वाली एलर्जी जेनेटिक नहीं होती है.  

7. दर्दनाक बचपन

Source: wordpress

ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के मनोचिकित्सक Samar McCutcheon, एमडी कहते हैं कि जब आप किसी बात से दुखी होते हैं, तो उसका असर आपकी आने वाली पीढ़ी पर पड़ता है. इससे आपका बच्चा नशे की लत का शिकार हो सकता है. मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों की एक महत्वपूर्ण संख्या है जो उन रोगियों में अधिक बार होती है जो अपने बचपन में किसी बात से परेशान किए जाते हैं.  

8. संवेदनशील त्वचा

Source: lorealparisusa

Dr. Anthony के अनुसार, अगर कोई साबुन और परफ़्यूम आपके पैरेंट्स को सूट नहीं करता है, तो ऐसा आपके साथ भी हो सकता है. इसे Atopy कहा जाता है. एटोपिक जिल्द की सूजन या एक्ज़िमा, खुजली, लाल और परतदार त्वचा लाल चकत्ते एक प्रतिरक्षा अतिसंवेदनशीलता के कारण होते हैं. मगर जब ये ज़्यादा बढ़ जाएं, तो डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें. 

9. Learning Disabilities

Source: psu

इसके बारे में एक्सपर्ट को भी संदेह है कि, Disabilities अनुवांशिक होती हैं या फिर पर्यावरणीय. सीखने की अक्षमता वाले लोग आमतौर पर औसत बुद्धि या इसके बाद के संस्करण के होते हैं, लेकिन उनके पढ़ने, एकाग्रता या भाषा के साथ समस्या हो सकती है, जिस तरह से उनके दिमाग़ की जानकारी की प्रक्रिया होती है. 

10. सिरदर्द

Source: wellandgood

National Headache Foundation के अनुसार, 70 से 80 प्रतिशत लोगों में माइग्रेन की वजह सिरदर्द होती है. माइग्रेन का मुख्य कारण आपके परिवार में किसी को माइग्रेन होने की वजह से हो सकता है.Reader’s Digest को Orlando Health Physician Associates के DO, Todd Sontag ने बताया, माइग्रेन का एक कारण आपके परिवार से भी जुड़ा हो सकता है, यानि पेरेंट्स में से किसी एक को होने पर भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है.

11. गंजापन

Source: medicalnewstoday

गंजापन, बाल कम होना या बाल घने होना भी अनुवांशिक होता है. अगर आपके पेरेंट्स के बाल कम होते हैं, तो वो आपको विरासत में मिल सकते हैं.

12. डायबिटीज़

Source: aspiretrainingteam

डायबिटीज़ के लक्षण भी पेरेंट्स से ही मिलते हैं. अगर पेरेंट्स को डायबिटीज़ होगी, तो उसका लक्षण बच्चों में ज़रूर आएगा.

ये बीमारियां पेरेंट्स से मिलने वाली हैं. Lifestyle से जुड़े और आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करें.