जलेबी हम भारतीयों के जीवन में क्या मायने रखती है, शायद ये सवाल पूछना ही ग़लत है. जलेबी वो मिठाई है, जो हम भारतीयों की पसंदीदा मिठाई है और उससे हमारी बहुत सी यादें जुड़ी हुई हैं. हमारे यहां पर तो सैंकड़ों साल पुरानी जलेबी की दुकानें मौजूद हैं. इन्हीं में से एक है मुंबादेवी जलेबीवाला. ये दुकान 122 साल पुरानी है.

Mumbadevi Jalebiwala
Source: talkingstreet

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के कालबादेवी इलाके में मौजूद है ये दुकान. इसकी ख़ासियत ये है कि ये इतने सालों से सिर्फ़ और सिर्फ़ जलेबियां ही सर्व करती आ रही है. किसी दुकान का इतने लंबे समय तक एक ही मिठाई को बनाकर मार्केट में टिके रहना बहुत ही मुश्किल होता है.

Mumbadevi Jalebiwala
Source: thecitystory

जब तक कि आपके पास कोई ऐसी रेसिपी न हो जो किसी के पास न हो. मुंबई का ये इलाका यूं तो मुंबादेवी माता के मंदिर के लिए फ़ेमस है. लेकिन माता के दर्शन करने के लिए आने वाले लोग मुंबादेवी जलेबीवाला की दुकान से जलेबी खाना नहीं भूलते.

Mumbadevi Jalebiwala
Source: magicpin

इस दुकान की शुरुआत वर्ष 1897 में हुई थी. तभी से ही यहां पर स्वादिष्ट और लज़ीज़ जलेबियां परोसी जा रही हैं. यहां तक पहुंचने के लिए आपको थोड़ी बहुत मशक्त करने पड़ेगी. क्योंकि ये इलाका बहुत ही संकरा और भीड़भाड़ वाला है. पर जब आप सारी परेशानियों के झेलते हुए यहां कि गरमा-गरम जलेबियां खाएंगे, तो उसका स्वाद ज़िंदगी भर नहीं भूल पाएंगे.

Mumbadevi Jalebiwala
Source: blogspot

जलेबी के अलावा यहां पर सिर्फ़ फ़ाफड़ा ही सर्व किया जाता है यहां के फ़ाफडे भी बहुत ही टेस्टी हैं. इसे स्पेशल चटनी के साथ सर्व किया जाता है, जिसे पपीते से बनाया जाता है. कस्टमर के ऑर्डर करने पर जलेबियों को तुरंत बनाया जाता है, जिन्हें एक पत्तल में सर्व किया जाता है.

पता: 77 कुल्फ़ी हाउस, मुंबादेवी मंदिर के पास, ज़ावेरी बाज़ार, कालबादेवी मुंबई.

अगली बार मुंबई जाना तो मुंबादेवी जलेबीवाला की जलेबियां ज़रूर खाकर आना.

Lifestyle से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.