आजकल की दुनिया में कोई भी अपनी हेल्थ को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करना चाहता है. चाहे वो वज़न बढ़ने की समस्या हो या फिर चेहरे की, हर समस्या से लोग ख़ुद को दूर रखना चाहते हैं. ऐसे में अपनी सांसों को तारो-ताज़ा एवं दुर्गंध रहित रखना भी हमारी लाइफ़स्टाइल का अहम हिस्सा है और ज़रूरी भी. कई बार ऐसा होता है कि कुछ लोगों के मुंह से आने वाली गंदी बदबू की वजह से आप और हम उसके पास बैठने से कतराते हैं

 ऐसे लोगों के लिए आज हम लाये हैं कुछ घरेलू उपाय जिनको अपनाकर उनकी सांसों से आएगी रेफ्रेशिंग और तरोताज़ा सांसें. 

 1 लो-कार्ब्स के साथ फ़ैट और प्रोटीन संतुलित मात्रा मे लें

कार्ब्स या फ़ैटी फ़ूड मे Ketone की मात्रा ज़्यादा पाई जाती है, जो आगे जाकर पेट मे जमा होता है और साथ ही साथ हमारी जीभ पर भी मोटी परत में रह जाता है जिससे गंदी बदूब आने की समस्या बढ़ जाती है. इसलिए हमेशा लो कार्ब्स और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही सब्जियां जैसे की ब्रोकली, शकरकंदी, गाजर और फ़्रेश फलों का ही सेवन करना चाहिए. 

 2. क्रंची और हेल्दी चीजों का सेवन करें

क्रंची और हेल्दी चीजें जैसे की सेव, गाजर इत्यादि इनकी परत मोटी होती है जिसे खाने से हमारी जीभ पर जमें कीटाणुओं का नाश हो जाता है और मुंह से गंदी बदबू आना भी बंद होता है.

  3. ख़ूब खाएं हरी सब्जियां

हरी सब्जयों के कई फ़ायदे हैं ये तो हम सब जानते है लेकिन आपको बता दें कि हरी सब्ज़ियां खाने से सांसें से आने वाली बदबू से भी छुटकारा मिलता है.

4. ज़्यादा से ज़्यादा मात्रा में पानी पियें

पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है पानी पेट में या मुंह में जमा होने वाले सारे कीटाणु को मार गिरता है और ताज़ी सांसों के लिए मदद करता है. 

 5. ग्रीन जूस की मात्रा अधिक लें और कॉफ़ी कम मात्रा में लें

ग्रीन जूस में एसिड कम मात्रा में मौजूद होता है, वहीं कॉफ़ी से हमारे शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है ऐसे मे गंदी स्मेल आने की समस्याएं बढ़ जाती हैं, तो हमें पूरी कोशिश करनी चाहिए कि हम कॉफ़ी कम पियें और अपनी डाइट में ग्रीन जूस का सेवन करें. 

 6. Mint Leaves चबाएं

Mint Leaves में फ़्रेशनेस की ख़ुशबू होती है. इसे चबाने से मुंह पूरे दिन रिफ़्रेश रहता है और मुंह से आने वाली गंदी स्मेल भी दूर हो जाती है. 

 7. प्रोबायोटिक्स लें 

 प्रोबायोटिक्स पेट के बैक्टीरिया का लाभकारी रूप हैं, जो प्राकृतिक पाचक रस और एंजाइम्स को बढ़ा कर पाचन तंत्र को ठीक तरह से काम करने में मदद करता है.

 8. अपने दांत और मुंह को प्रतिदिन साफ़ रखें 

दांतों की सफ़ाई बहुत ज़रूरी है. इससे हमारे मुंह के अंदर छिपे सारे कीटाणु मर जाते हैं और दांत मज़बूत भी रहते हैं. सबसे ज़रूरी बात ये है कि रात को सोने से पहले ब्रश ज़रूर करके सोएं. 

9. जीभ की सफ़ाई

पूरे दिन में तरह-तरह की चीज़ें हम खाते हैं ऐसे में कई बार ऐसा होता है कि फ़ैटी फ़ूड या ऑयली फ़ूड हमारी जीभ में जमा हो जाते हैं, जो कीटाणु बन जाते हैं जो कई तरह की बीमारियों का कारण बनते हैं. इससे भी सांसों से बदबू आने लगती है.  

10. अल्कोहल-फ़्री माउथवॉश का इस्तेमाल करें 

हमारे मुंह को कीटाणुरहित रखने के लिए हमें अल्कोहल-फ़्री माउथवाश का ही इस्तेमाल करना चाहिए. अगर आप चाहें, तो घर पर भी ऐसा माउथवॉश तैयार कर सकते हैं. इसके लिए 1 चम्मच बेकिंग सोडा को 1 कप गर्म पानी मे मिलाएं और इसमें एसेंशियल ऑयल के कुछ बूंदें मिला कर अच्छे से घोल लें इससे आपका अल्कोहल-फ़्री माउथवॉश पूरी तरह बनकर तैयार हो जायेगा.  

11. शुगर-फ़्री च्युइंग गम चबाएं 

शुगर-फ़्री च्युइंग गम में Xylitol की मात्रा ज़्यादा होती है, जो कीटाणुओं को जड़ से मिटाने में मदद करता है. साथ ही साथ ये दांतों को कैविटी की समस्या से भी दूर रखता है.  

 12. ब्रेथ जेल को अपने पर्स में हमेशा रखें

अगर आपको Temporomandibular Joint and Muscle Disorders (TMJ) नाम की बीमारी है, तो आप च्युइंग गम नहीं चबा पाएंगे. ऐसे में आप अपने साथ ब्रेथ जेल हमेशा रखें इससे आपकी सांसों से गंदी बदबू नहीं आएगी और पूरा दिन आप तरोताज़ा फ़ील करेंगे. 

13. धूम्रपान से रहें दूर 

हम सब को पता है कि धूम्रपान हमारी सेहत के लिए कितना ज़्यादा हानिकारक साबित होता है. इसमें मौजूद निकोटिन हमारे शरीर को कमज़ोर करने के साथ-साथ मुंह के अंदर होने वाली कई बीमारियां फैलाता है. 

14. फ़्लेवर्ड और सुगन्धित लिपग्लॉस लगाएं 

मार्केट मे तरह-तरह की फ़्लेवर्ड लिपग्लॉस बहुत मिलते हैं, लेकिन ये ज़रूरी नहीं कि इससे गंदी सांसों की समस्या ख़त्म होगी. लेकिन आपके संपर्क में आने वाले लोगों को कम से कम इसका एहसास नहीं होगा. 

15. दांतो के डॉक्टर के सम्पर्क में रहें

गंदी सांसों की समस्या वैसे तो तब तक आपका पीछा नहीं छोड़ेगी, जब तक आप इन चीज़ों को अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में नहीं अपनाएंगे, लेकिन साथ ही साथ दांतों के डॉक्टर से भी नियमित रूप से दांतों और मुंह का चेकउप कराएं. तो दोस्तों अगर आप सांसों से आने वाली बदबू से लोगों से बात करने में हिचकिचाते हैं या आपका कोई क़रीबी इस तरह की समस्या से गुज़र रहा है, तो आप उसको इन टिप्स के बारे में बता सकते हैं.