Entrepreneurs:  IIT में प्रवेश लेना बहुत बड़ी बात है अगल किसी ने ऐसा कर लिया तो वो स्टूडेंट पूरी ज़िंदगी उन लोगों के लिए उदाहरण के साथ-साथ ताना मारने का ज़रिया बन जाता है, जो एडमिशन नहीं ले पाए हैं. देखा जाए तो हमारे देश में हर साल कई बच्चे IIT JEE की प्रवेश परीक्षा देते हैं, जिनमें से कुछ पास हो जाते हैं तो कुछ फ़ेल हो जाते हैं, जो बच्चे फ़ेल हो जाते हैं उन्हें पेरेंट्स के साथ-साथ सोसाइटी की भी बातों का सामना करना पड़ता है. इन्हीं पेरेंट्स और सोसाइटी को ये जानने की ज़रूरत है कि IIT ही करयिर का आधार नहीं है. अगर बच्चे में दिमाग़ और परिवार का सपोर्ट हो तो वो भी इन 6 सक्सेसफ़ुल उद्दमी (Entrepreneurs) की तरह बिना IIT के अपना नाम कमा सकते हैं.

Entrepreneurs
Source: incimages

ये रही उन Entrepreneurs की पूरी डिटेल जिसे पढ़ने के बाद आज कई युवाओं का नज़रिया ज़रूर बदलेगा.

ये भी पढ़ें: मिलिए हितेश गूंगान से, जो लॉकडाउन में लोगों की मदद के लिए Entrepreneur से बन गया डिलीवरी बॉय

Entrepreneurs

1. पीयूष बंसल, सीईओ और को-फ़ाउंडर लेंसकार्ट (Peyush Bansal, CEO & Co-founder Lenskart)

पीयूष बंसल IIT JEE में एडमिशन लेने में असफ़ल रहे, लेकिन हार नहीं मानी और कनाडा के मैकगिल विश्वविद्यालय (McGill University) चले गए. यहां से उन्होंने बैचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग की डिग्री ली. आज पीयूष बंसल, Lenskart के को-फ़ाउंडर हैं और 600 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं. लेंसकार्ट एक ऑनलाइन आई-वियर शॉपिंग पोर्टल है, जहां आप फ़ंकी स्टाइल और कलर के चश्में ले सकते हैं.

Peyush Bansal
Source: indiakestar

2. शाश्वत नाकरानी, को-फ़ाउंडर भारतपे (Shashvat Nakrani, Co-founder BharatPe)

शाश्वत नाकरानी ने 2018 में IIT दिल्ली में एडमिशन लिया, लेकिन UPI ऑनलाइन मनी ट्रांसफ़र App BharatPe बनाने के लिए इसे छोड़ दिया. शाश्वत ने शार्क टैंक इंडिया के जज अशनीर ग्रोवर के साथ BharatPe की स्थापना की. वो भारतपे के को-फ़ाउंडर हैं. आपको बता दें, 2021 में, उन्हें IIFL Wealth Hurun India Rich List द्वारा 'Youngest Richest Self-Made' उद्यमी के तौर पर शामिल किया गया था.

Shashvat Nakrani
Source: news18

3. एन. आर. नारायणमूर्ति, फ़ाउंडर ऑफ़ इंफ़ोसिस (N.R. Narayana Murthy, Founder of Infosys)

एन.आर. नारायण मूर्ति ने IIT प्रवेश परीक्षा दी और उसे पास भी कर लिया, लेकिन घर की आर्थिक स्थित अच्छी न होने के चलते उनके पिता आगे की फ़ीस नहीं दे पाए, जिससे नारायणमूर्ति को IIT का सपना छोड़ना पड़ा. इसके बाद, इन्होंने  मैसूर में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक के साथ ग्रेजुएट किया. बिना किसी बिज़नेस बैकग्राउंड के नारायणमूर्ति ने 1981 में Infosys की स्थापना की और आज इनका 4.4 बिलियन डॉलर का टर्नओवर है.

N.r. Narayana Murthy
Source: tosshub

4. वेंकटरामन रामकृष्णन, नोबेल प्राइज़, केमिस्ट्री में 2009 (Venkatraman Ramakrishnan,  Nobel Prize, Chemistry in 2009)

नोबेल पुरस्कार विजेता वेंकटरमण रामकृष्णन भी IIT प्रवेश परीक्षा पास नहीं कर पाए थे, लेकिन उन्होंने ज़िंदगी के रेस में ख़ुद को फ़ेल नहीं होने दिया और आगे बढ़े. इसके बाद, बड़ौदा के महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट किया. इन्हें 2009 में केमिस्ट्री के 'राइबोसोम की संरचना और फ़ंक्शन के अध्ययन' (Studies Of The Structure And Function Of The Ribosome) के लिए नोबेल पुरस्कार मिला था. 2010 में इन्हें भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.

Venkatraman Ramakrishnan
Source: gulfnews

5. सत्या नडेला, एक्ज़ीक्यूटिव चेयरमैन और सीईओ माइक्रोसॉफ़्ट (Satya Nadella, Executive Chairman & CEO Microsoft)

माइक्रोसॉफ़्ट के Executive Chairman और CEO सत्या नडेला भी IIT एंट्रेंस एग्ज़ाम पास नहीं कर पाए. इसके बाद इन्होंने कर्नाटक के मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक से ग्रेजुएशन पूरा किया.

Satya Nadella
Source: centrumxp

6. अज़हर इक़बाल, को-फ़ाउंडर और सीईओ इनशॉर्ट्स (Azhar Iqubal, Co-founder & CEO Inshorts)

2012 में IIT दिल्ली में गणित और कंप्यूटर के स्टूडेंट रह चुके अज़हर इकबाल आज ऑनलाइन न्यूज़ वेबसाइट Inshorts के सीईओ और सह-संस्थापक हैं.

Azhar Iquba
Source: officechai

अगर क्रिएटिविटी, कुछ करने का जज़्बा और ख़ुद पर भरोसा हो तो प्लेटफ़ॉर्म और कॉलेज से फ़र्क़ नहीं पड़ता.