कोरोना... कोरोना... कोरोना 

अब हमें कोरोना वाली ज़िंदगी जीने की आदत डाल लेनी चाहिये. जब तक कोरोना ज़िंदगी से नहीं जाता. हमें सावधानी के साथ जीवन बिताना होगा. फिर चाहे बात घर पर रहकर दिन गुज़रने की हो या बाहर निकल कर ज़रूरत पूरी करनी हो. इन्हीं ज़रूरतों में शॉपिंग भी है. फिर चाहे वो रोज़र्मरा के लिये हो या किसी ख़ास फ़ंक्शन के लिये. 

कोरोनाकाल में अगर आप भी कपड़ों की ख़रीददारी के लिये जा रहे हैं, तो कुछ बातों का ख़ास ध्यान रखें 

1. स्ट्रीट मार्केट 

दिल्ली की फ़ेमस स्ट्रीट मार्केट हो या फिर मुंबई की. इस समय स्ट्रीट शॉपिंग करना फ़ायदे का सौदा नहीं है. न मार्केट में पहले जैसी रौनक होगी और न ही यहां जाना सेफ़ है. 

shopping
Source: lbb

2. कपड़ों का ट्रायल न लें 

आप किसी मंहगे शो-रूम में खड़े हैं, इसका मतलब ये नहीं है कि आप कोरोना से सेफ़ हैं. कपड़ों का ट्रायल लेने के बजाए. ढंग से अपना साइज़ पता करें और फिर कोई कपड़ा लें. 

Shopping
Source: thepropertytimes

3. ऑनलाइन शॉपिंग कितनी सेफ़ है 

ऑनलाइन शॉपिंग को पूरी तरह से सेफ़ नहीं कहा जा सकता है. वो इसलिये क्योंकि अगर किसी को साइज़ में दिक्कत में होती है, तो वो उस पार्सल को रिटर्न करेगा ही. ऐसे में कई हद तक कोरोना संक्रमण का ख़तरा हो जाता है. 

Onilne
Source: forbes

4. ऑनलाइन पेमेंट करें 

अगर आप ख़रीददारी करने निकलें हैं, तो पेमेंट कैश में न देकर ऑनलाइन करें. इससे संक्रमति होने से बचा जा सकेगा. 

cash
Source: patrika

5. बहुत ज़रूरी हो तो ही शॉपिंग के लिये निकलें 

फ़िलहाल, ख़रीदारी के लिये तभी जाएं, जब बहुत ज़्यादा ज़रूरी हो. वरना पुराने कपड़ों से ही काम चलाएं. 

clothes
Source: cnbc

6. कपड़ों को छूने के बाद हाथों को चेहरे पर न लगाएं 

कई बार लोग बार-बार अपना चेहरा छूते रहते हैं. शॉपिंग करते समय अगर आपने कपड़ा टच किया है, तो उन हाथों को मुंह में न लगाएं. 

garments
Source: economictimes

हम फिर यही कहेंगे कि अगर बहुत ही ज़रूरत हो, तो ही शॉपिंग पर जाएं. 

Lifestyle के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.