गर्मी बहुत तेज़ हो रही है, बाहर निकलते ही धूप और गर्म हवा के थपेड़े पड़ने लग जाते हैं. ऐसे में या तो आप घर में AC की ठंडी हवा में बैठे होंगे या फिर किसी हिलस्टेशन जाने का प्लान कर रहे होंगे. तो ज़रा रुकिये, हिलस्टेशन जाने से अच्छा अपने घर में AC में ही रहिए, क्योंकि इन हिलस्टेशन में इस समय इतनी ज़्यादा भीड़ उमड़ पड़ी है कि वहां जाकर इजॉय करने का भी सपना चूर-चूर हो जाएगा.

Source: hellotravel

आपको बता दें कौन-कौन से हैं वो हिलस्टेशन:

1. शिमला

Source: zeenews

पानी की समस्या से जूझ रहा शिमला इन दिनों पर्यटकों की भारी संख्या से भी जूझ रहा है. सभी होटल पहले ही ऑनलाइन बुक हो चुके हैं. इसलिए वहां पहुंच रहे पर्यटकों को होटल मिल नहीं पा रहे हैं. जिस कारण उन्हें खली हाथ लौटना पड़ रहा है. शिमला में पार्किंग की समस्या सबसे बड़ी समस्या है.

2. मसूरी

Source: dailyhunt

मसूरी में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के चलते पानी की सबसे बड़ी समस्या खड़ी हो चुकी है. साथ ही यहां पर होटल भी मिलने में परेशानी हो रही है.

3. ऊटी

Source: goibibo

ऊटी में केवल 10,000 हज़ार लोगों के रहने के इंतज़ाम किये गए थे, लेकिन आज यहां पर लगभग 125,000 लोग रह रहे हैं और ऊपर से हर साल भारी संख्या में आने वाले पर्यटकों की वजह से यहां रहने वालों को पानी और ट्रैफ़िक से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

4. महाबलेश्वर

Source: trawell

पहाड़ों और प्रकृति से ओत-प्रोत महाबलेश्वर इन दिनों पर्यटकों की भारी संख्या के चलते पानी, आवास और ट्रैफ़िक की भीषण समस्या से गुज़र रहा है.

5. दार्जिलिंग

Source: holidify

पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग दुनिया के सबसे शानदार पहाड़ी रिसॉर्ट्स में से एक है. ये बर्फ़ की चोटियों और भव्य हरी पहाड़ियों से ढका हुआ है. दार्जिलिंग में हर साल लगभग 3.5 लाख घरेलू पर्यटक आते हैं, जिन्होंने इसको हरा-भरा रखने में अपना योगदान दिया है. उन्हें अब पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है.

6. धर्मशाला

Source: youthincmag

पर्यटकों की भारी भीड़ के चलते यहां घंटों ट्रैफ़िक में फंसना पड़ रहा है. वीकेंड पर मैक्लोडगंज में 5 हज़ार से ज़्यादा पर्यटक पहुंचते हैं, जबकि हफ़्ते के शुरुआती दिनों में ये आंकड़ा 2500 से अधिक रहता है. बैजनाथ के पास बीड़ में वीकेंड पर 3 हज़ार और शुरुआती दिनों में 1500 से अधिक पर्यटक पहुंचते हैं.

7. नैनीताल

Source: nainitaltourism

नैनीताल के आस-पास इलाकों में पर्यटकों की भारी समख्या उमड़ने से नैनीताल भी शिमला की तरह ही पार्किंग की समस्या से जूझ रहा है.

बता दिया है हमने, जाना न जाना आपके ऊपर हैं. Lifestyle के और आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करें.