बहुत लोगों को एडवेंचर काफ़ी पसंद होता है, फिर चाहे बात ऊंचे पहाड़ों से कूदने(Bungee Jumping) की हो या फिर हॉन्टेड प्लेसेस पर घूमने की. अगर आप दूसरे किस्म के एंडवेंचर को पसंद करते हैं, तो आपके लिए ख़ुशखबरी है. हमने झीलों के शहर उदयपुर की कुछ भुतहा जगहों के बारें में रिसर्च की है. आप यहां जाकर अपने इस एडवेंचर को नए आयाम दे सकते हैं.

1. सज्जनगढ़ किला

Source: www.remotetraveler.com

इस किले को मेवाड़ राजवंश के महाराजा सज्जन सिंह ने 1884 में बनवाया था. इस किले के निचले हिस्सों में लोगों को अजीब-अजीब बातें सुनाई देती थीं. इसलिए इसके अधिकतर अंडरग्राउंड कमरों को बंद कर दिया गया है. शाम को 7 बजे के बाद पर्यटकों को यहां जाने की अनुमती नहीं है.

2. रानी रोड

Source: www.remotetraveler.com

लॉन्ग ड्राइव पर जाने के लिए उदयपुर की ये रोड बेस्ट है. लेकिन रात में 12-4 am के बीच यहां जाने से बचना चाहिए. स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां रात को अचानक उनकी गाड़ी एक जगह पर रुक जाती है. यहां उन्हें कोई अदृश्य शक्ति के होने का एहसास भी हुआ है.

3. राणा कुम्भा पैलेस

Source: Rajasthan

ये वही महल है जहां, रानी पद्मिनी ने अलाउद्दीन ख़िलजी से बचने के लिए 700 महिलाओं के साथ जौहर किया था. यहां घूमने आए कइ लोगों ने औरतों के चीखने और मदद मांगने की आवाज़ सुनने की शिकायत की है. लोगों का मानना है कि ये औरतें अपने साम्राज्य को बचाने के लिए मदद मांगती हैं.

4. गुलाब बाग़

Source: Mana Hotels

सूर्यास्त के बाद यहां किसी को जाने नहीं दिया जाता. लोगों का कहना है कि रात में यहां से लोगों के चीखने की आवाज़ें आती हैं. कुछ लोगों का मानना है कि यहां भूतों को भगाया जाता है.

5. चांदनी गांव

Source: My Udaipur City

उदयपुर का ये गांव पिकनिक मनाने के लिए बेस्ट स्पॉट है. लेकिन यहां शाम होते ही कोई नहीं दिखाई देता. स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां एक महिला की रूह भटकती है.

6. NH 79 अजमेर- उदयपुर हाइवे

Source: www.khaskhabar.com

कहते हैं कि यहां एक महिला अपनी बच्ची को बाल विवाह से बचाना चाहती थी. इसके लिए वो शादी के दिन उसे लेकर इस हाइवे पर भाग आई. यहां उसने कई लोगों से मदद मांगी, लेकिन कोई नहीं रुका. उसी दर्मयान किसी वाहन से टकराने से दोनों की मां-बेटी की मौत हो गई थी. स्थानीय लोगों का कहना है उनकी रूह यहां आज भी लोगों से मदद मांगती नज़र आती है.

7. चिरवा घाटी

Source: UdaipurTimes.com

चिरवा घाटी को अब एक टनल में परिवर्तित कर दिया गया है. उदयपुर की इस घाटी पर सबसे ज़्यादा एक्सिडेंट होते हैं. यहां टनल की शुरुआत में एक मंदिर बनाया गया है. लोगों का कहना है कि अगर कोई इस मंदिर में मत्था टेके बिना आगे बढ़ता है, तो उसके साथ कोई न कोई दुर्घटना हो जाती है.

8. बेदला माता मंदिर

Source: www.udaipurblog.com

बेदला रोड पर बना ये मंदिर काफ़ी प्रसिद्ध है. ऐसा माना जाता है कि यहां की देवी मां के दर्शन करने से आपके ऊपर से भूतों का साया हट जाता है. ये मंदिर एक गुफ़ा में बना है. लेकिन अगर आप मंदिर से बाहर जाते समय पीछे मुड़ के देख लेते हैं, तो दोबारा से भूत-प्रेत आपके साथ चले आते हैं.

9.नटनी का चबूतरा

Source: UdaipurBlog

कहते हैं कि उदयपुर की इस जगह पर एक नटनी की आत्मा भटकती है. एक बार राजा ने उस नटनी से अपने महल और नदी किनारे तक रस्सी पर चलकर जाने को कहा था. नटनी उस करतब को करने ही वाली थी कि राजा के लोगों ने रस्सी काट दी और महिला की मौत हो गई. राजा ने उसे इस करतब के बदले अपना आधा राज्य देने का वादा किया था.

क्या आपको इन कहानियों को सुनकर डर लगा?