Alopecia Areata Causes and Treatment : बालों को शरीर की ख़ूबसूरती का सबसे अहम हिस्सा माना जाता है. यही वजह है कि पुरुष हो या महिला, बालों को संवारने या स्टाइलिंग के लिए हज़ारों रुपए तक ख़र्च कर देते हैं. वहीं, बालों से जुड़ी छोटी-सी समस्या पर एकदम से गंभीर भी हो जाते हैं, ये सोचकर कहीं बाल झड़ने न लग जाएं. वैसे बालों का थोड़ा बहुत झड़ना आम है, लेकिन अगर बाल गंभीर रूप झड़ने लग जाएं, तो ये Alopecia Areata नामक बालों की एक गंभीर बीमारी का लक्षण हो सकता है. इस बीमारी से ऑस्कर विजेता एक्टर Will Smith की पत्नी Jada Pinkett Smith भी पीड़ित हैं. 

यही वजह है कि हम इस ख़ास आर्टिकल में एलोपेसिया क्या है के साथ, एलोपेसिया के कारण, एलोपेसिया के लक्षण और एलोपेसिया के इलाज के विषय में विस्तार से जानकारी देंगे. What is Alopecia in Hindi से जुड़ी ज़रूरी जानकारी के लिए लेख में अंत तक बने रहें. 

लेख में सबसे पहले जानते हैं कि क्या है एलोपेसिया एरेटा (Alopecia Areata Causes and Treatment).  

will smith wife
Source: cheatsheet

एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट की मानें, तो एलोपेसिया शब्द का अर्थ है बालों का झड़ना, चाहे कारण कुछ भी हो. वहीं, ये सिर्फ़ सिर तक ही सीमित नहीं है, बल्कि ऐसा शरीर के अन्य हिस्सों में भी हो सकता है. वहीं, वहीं, स्वास्थ्य विषयों पर लिखने वाली नामी वेबसाइट हेल्थलाइन ने भी एलोपेसिया को बाल झड़ने के रूप में बताया है. वहीं, इसके कई प्रकार भी हैं, जिसमें एक Alopecia Areata भी है, जिससे विल स्मिथ की पत्नी Jada Pinkett Smith पीड़ित हैं. 

वहीं, हम एलोपेसिया एरेटा की बात करें, तो ये एक आम एलोपेसिया का प्रकार है, इसे एक ऑटोइम्यून बीमारी कहा गया है. ऑटोइम्यून यानी जब व्यक्ति का इम्यून सिस्टम हेल्दी सेल्स पर अटैक करने लग जाए. इसमें इम्यून सिस्टम हेल्दी बालों के रोम पर अटैक करता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या उत्पन्न होती है. ये आमतौर पर सिर और चेहरे को प्रभावित करता है. इसमें बाल छोटे व गोल पैचेज़ के रूप में गिरते हैं. वहीं, कुछ मामलों में बालों का झड़ना अधिक हो जाता है.  

एलोपेसिया एरेटा के कारण : Causes of Alopecia Areata in Hindi  

Causes of Alopecia Areata
Source: wikipedia

Alopecia Areata Causes and Treatment : एलोपेसिया एरेटा किसी भी व्यक्ति, चाहे वो महिला हो या पुरुष को हो सकता है. हालांकि, इससे अधिकतर मामले किशोरवस्था में, 20 की उम्र में या 30 की उम्र से देखे जाते हैं. वहीं, जब ये 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में होता है, तो ये अधिक व्यापक होता है. 

वहीं, इसके कारण की बात करें, तो जैसा कि हमने ऊपर बताया कि ये एक ऑटोइम्यून बीमारी है और जब इन्यून सिस्टम स्वस्थ बालों के रोम पर अटैक करता है, तो ये बाल गंभीर रूप से झड़ने लगते हैं. इसके और भी कारण हो सकते हैं, जो नीचे बताए गए हैं : 
परिवार में ऑटोइम्यून बीमारी : अगर परिवार में किसी सदस्य को ऑटोइम्यून बीमारी रही है, जैसे रूमेटाइड अर्थराइटिस या टाइप 1 डायबिटीज़, तो एलोपेसिया एरेटा अन्य परिवार के सदस्य को भी हो सकता है. इसलिए, वैज्ञानिक ने भी एलोपेसिया एरेटा का एक कारण आनुवंशिक भी बताया है. 
अन्य कारण: इसके और भी कारण हो सकते हैं, जैसे गर्भावस्था, ट्रॉमा या कोई गंभीर बीमारी

एलोपेसिया एरेटा के लक्षण : Symptoms of Alopecia Areata in Hindi 

Symptoms of Alopecia Areata
Source: avensonline

एलोपेसिया एरेटा को निम्नलिखित लक्षणों के ज़रिए पहचाना जा सकता है, जो कि निम्नलिखित हैं: 

1. सिर से बालों का गोल पैचेज़ में गिरना. वहीं, ऐसा अन्य भाग में भी हो सकता है, जैसे दाढ़ी, भौहें, पलकें, जांघ, बांह या पेट के नीचे.
2. जहां से बार गिरे हैं, वहां जलन, खुजली या झुनझुनी हो सकती है. 
3. कुछ लोगों में नाखून में बदलाव देखे जा सकते हैं, जैसे लकीरें या गड्ढे पड़ना. ऐसा उन लोगों में ज़्यादा होता है, जिनके बाल अधिक झड़ते हैं.  

एलोपेसिया एरेटा का निदान : Diagnosis of Alopecia Areata in Hindi 

 Alopecia Areata
Source: medicalnewstoday

एलोपेसिया एरेटा की जांच के लिए डॉक्टर निम्नलिखित कदम उठा सकता है, जैसे: 

1. जहां से बार झड़े हैं, शरीर की उस भाग की जांच डॉक्टर कर सकता है. 
2. नाखूनों की जांच की जा सकती है. 
3. मैग्निफाइंग डिवाइस के ज़रिए बालों के रोम की ओपनिंग की जांच की जा सकती है. 
4. इसके अलावा, परिवार की मेडिकल हिस्ट्री पूछी जा सकती है.  
ये भी पढे़ं: आधी रात में नींद टूटने का कारण कच्ची नींद नहीं, बल्कि हो सकता है किसी भयानक बीमारी का संकेत

एलोपेसिया एरेटा का इलाज : Treatment of Alopecia Areata in Hindi  

Treatment of Alopecia Areata
Source: mymed

Alopecia Areata Causes and Treatment : कई मामलों में मरीज़ को किसी ट्रीटमेंट की ज़रूरत नहीं होती, क्योंकि उनके बार फिर से उग आते हैं. लेकिन, गंभीर रूप से पीड़ित मरीज़ के लिए इलाज की आवश्यकता पड़ जाती है. इसके लिए डॉक्टर मरीज की उम्र और बीमारी की गंभीरता को देखते हुए निम्नलिखित इलाज कर सकते है: 

1. त्वचा की सतह के नीचे स्टेरॉयड इंजेक्शन (Intra-lesional Steroid)का इस्तेमाल. 
2. त्वचा पर दवाई लगाने के दी जा सकती है. 
3. इम्यूनोसप्रेसेन्ट ड्रग्स. 
4. या अल्ट्रावॉयलेट लाइट सर्जरी की जा सकती है.
 
नोट: भूल से भी अपनी मर्जी से किसी भी तरह का इलाज (Alopecia Areata Causes and Treatment) न करवाएं और दवाई का सेवन न करें.