बचपन सच में जादुई था. बीते कल की छोटी-छोटी बातें आज भी हमारे चेहरे पर मुस्कान दे जाती हैं. हमारे दौर में एंटरटेनमेंट के लिये डिजिटल साधन नहीं थे. पर भी हम ख़ूब मस्ती करते थे. मतलब यार... बचपन में क्या कुछ नहीं किया है हमने. कभी गुड़िया के बाल काटना, कभी उसकी शादी रचाना. कभी स्कूल से आते वक़्त पड़ोसियों के गेट पर लगी घंटी बजाना कर भागना.

आज के समय में हम जब भी उन दिनों के बारे में सोचते हैं, तो यकीन नहीं होता कि हम ऐसा कुछ कर सकते हैं. बचपन को याद कर रहे थे, तो सोचा क्यों न एक बार फिर से उन पलों को जिया जाये. चलिये आप भी हमारे साथ इन ख़ूबसूरत पलों के साथ बन जाइये

1. पेंसिल से रबर पर छेद करना भी मस्त टाइम पास था. 

पेंसिल
Source: quoracdn

2. नॉली में गई बॉल को चार टप्पे मार कर बाहर निकाल लेते थे. 

बॉल
Source: wp

3. कौन-कौन पेंसिल को इस हालत में लाकर छोड़ कर देता था?

90s kid things
Source: quoracdn

4. ये भी एक बड़ा चैलेंज होता था. 

Bachpan Ki Yaaden
Source: funjokesjoy

5. दीपावली में असली मज़ा, तो इससे चुट-पुट करने में आता था. 

Bachpan
Source: modernkabootar

6. इससे उंगली में बहुत चोट मारी है. 

Spin
Source: blogspot

7. आज ज़रा सी बात पर हल्ला मचा देते हैं, लेकिन तब कितने धैर्य के साथ फ़ोन का तार सुलझाते थे. 

Nostalgia
Source: dailymoss

8. ओह... बस इसी काम से बहुत डरते थे. 

90s kids
Source: quoracdn

9. ये मूमेंट भी काफ़ी मज़ेदार था. 

90s TV
Source: dailymoss

10. तस्वीर का मतलब सिर्फ़ 90s Kids ही समझ सकते हैं.  

90s Things
Source: brightside

11. Slap bracelets साथ भी एक Toxic रिश्ता रहा है.  

80s Kids
Source: quoracdn

12. क्या आपने ऐसा Bandage यूज़ किया है 

Bandage
Source: quoracdn

13. हमारे टाइम यही कला थी. 

Things 90s kids will understand
Source: quoracdn

14. जिसने पेंसिल छिलने के बाद उसके छिक्कल को टेस्ट नहीं किया, उसके क्या बचपन जिया यार!

Pencil
Source: quoracdn

15. ये हुनर सब में नहीं होता था. 

Childhood
Source: quoracdn

16. सही निशाना लगाने के बाद अलग ही Confidence आ जाता था. 

Bachpan ke game
Source: pinimg

17. इस स्केल से ख़ूब खेल है. 

Bachpan
Source: quoracdn

18. क्या तुम ये कर सकते हो. 

90s Kids will understand
Source: 888

19. बैटिंग ऑर्डर. 

Bating
Source: pinimg

20. अब तो खींचा-तानी सिर्फ़ रिश्तों में रह गई है. 

Bachpan ke khel
Source: edtimes

सच बताना बचपन में खो गये हो न!