अपने रोज़-मर्रा के भागते-दौड़ते जीवन से कभी-कभी ब्रेक लेना ज़रूरी हो जाता है. ख़ासतौर से दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, पुणे जैसे महानगरों में रहना मानों 24 घंटे में 42 घंटों का काम करना. ऐसे में ज़रूरी है कि, आप शहर की भीड़भाड़ से निकलकर खुली हवा, सुनहरी धूप, चरों तरफ़ फैली हरियाली का मज़ा लें. लेकिन ऐसा हर किसी के लिए मुमकिन नहीं है.

देश का महाराष्ट्र राज्य हमेशा से ही अपनी ख़ूबसूरती के लिए मशहूर रहा है. राज्य में बहुत सी सुन्दर झीलें हैं. जहां आप शहर के शोर-शराबे से दूर सुकून के पल बिता सकते हैं. ऊपर नीला आसमान, सामने नीली झील और चेहरे पर पड़ती धूप की चमचमती तापिश.

अगर आप भी महाराष्ट्र के किसी शहर में रहते हैं और इसी तरह के माहौल की तलाश में हैं तो राज्य की इन झीलों का मज़ा ले सकते हैं-

1. वेन्ना झील 

 Venna Lake
Source: mahabaleshwartourism

वेन्ना झील एक ऐतिहासिक स्थानीय स्थल है. इसका निर्माण सतारा के राजा, श्री अप्पासाहेब महाराज ने 1942 में करवाया था. महाबलेश्वर का ये छोटा सा नीला स्वर्ग आप को जीवन भर की खूबसूरत स्मृतियां देगा.   

2. रंकला झील 

Rankala Lake
Source: prakashkatwate

महाराष्ट्र के कोहलापुर ज़िले में स्थित 'रंकला झील' की कहानी काफ़ी दिलचस्प है. मूल रूप से ये एक पत्थर की खदान थी. 9वीं शताब्दी में आए एक भूकंप की वजह से इस जगह पर एक अंडर ग्राउंड पानी का स्रोत खुल गया. जिसे बाद में स्वर्गीय महाराज श्री शाहू छत्रपति ने झील का रूप दे दिया. प्रसिद्ध रैंकभैरव मंदिर, झील के बीचों-बीच में स्थित है. जिसमें एक विशाल नंदी की प्रतिमा है.  

3. लोनार झील 

Lonar Lake
Source: flynote

महाराष्ट्र के बुलढाणा ज़िले में स्थित 'लोनार झील' एक स्मारक जैसी है. इस झील को Lonar Crater (गड्ढा) भी कहा जाता है. कहा जाता है कि ये उल्कापिंड (Meteorite) के प्रभाव का परिणाम है जो 35,000 और 50,000 साल पहले हुआ था. ये झील न केवल छुट्टी बिताने के लिए एक परफ़ेक्ट जगह है, बल्कि ये अपनी तरफ कई अंतरिक्ष प्रेमियों को भी आकर्षित करती है.  

4. अंबाझरी झील 

Ambazari Lake
Source: holidify

नागपुर के दक्षिण-पश्चिम सीमा के पास स्थित 'अंबाझरी झील' शहर की सबसे बड़ी झील है. शहर को पानी की आपूर्ति करने के लिए 1870 में भोसले नियम के तहत इसे बनाया गया था. इसका नाम आम के पेड़ों से आता है जो इसके चारों ओर लगे हुए हैं.  

5. ताडोबा झील 

Tadoba Lake
Source: railyatri

स्थानीय बुज़ुर्गों का कहना है कि 'ताडोबा झील' का नाम भगवान ताडोबा से लिया गया है या तरु जो गांव के प्रमुख थे. वो एक बाघ के साथ मुठभेड़ में मारे गए थे. स्थानीय जनजाति अब उनकी पूजा करते हैं जो यहां के घने जंगलों में रहते हैं.  

6. तुंगरली झील 

Tungarli Lake
Source: justdial

'तुंगरली झील' लोनावाला के पास सबसे खूबसूरत स्थलों में से एक है. पुणे से चंद घंटों की यात्रा और आप शहर की चिल्लाहट को पीछे छोड़, प्रकृति के पास एकदम मस्त.

7. धामपुर झील 

Dhamapur Lake
Source: holidify

महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग ज़िले की सबसे बड़ी झीलों में से एक 'धामपुर झील' है. नागेश देसाई, विजयनगर राजवंश के मांडलिक और स्थानीय ग्रामीणों द्वारा 1530 में प्राकृतिक रूप से बने हुए बांध का ये नतीजा है. आज, यहां आपको अनेक वनस्पति और जीव देखने को मिलेंगे.  

8. शार्लोट झील 

Charlotte Lake
Source: thrillophilia

चारलोट या 'शार्लोट झील' माथेरान में स्थित है. ये झील पिसर्नाथ मंदिर से घिरी हुई है जो इसके दाहिनी ओर स्थित एक प्राचीन मंदिर है. मानसून के समय का सबसे प्रिय स्थान इस झील में लुइस पॉइंट और इको पॉइंट है.  

9. कास झील  

Kaas Lake
Source: tripadvisor

विश्व प्रसिद्ध कास पठार (Plateau) के पास स्थित 'कास झील' 1875 में बनाई गई थी. पठार को 2012 में UNESCO की विश्व प्राकृतिक विरासत स्थल घोषित किया गया था. यहां आपको एक से बढ़कर एक वनस्पति और जीव देखने को मिलेंगे.  

10. तपोला झील 

tapola lake
Source: lbb

महाबलेश्वर की 'तपोला झील' को महाराष्ट्र का छोटा कश्मीर कहा जाता है. हरे-भरे पेड़, सामने नीला पानी, चिड़ियों के चहचाने की आवाज़ कुछ ऐसा ही सुकूनभरा अनुभव आप को यहां होगा.