कश्मीर की हसीन वादियों में बसा लद्दाख एक बहुत ही शांत क्षेत्र है. पर्यटन के लिहाज़ से भी ये किसी से कम नहीं है. लद्दाख भले ही जम्म-कश्मीर में हो, लेकिन यहां की संस्कृति कश्मीर घाटी से बिलकुल अलग है. अगर आप लद्दाख जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको भी वहां की संस्कृति और रीति-रिवाज़ों के बारे में पहले से जान लेना बेहतर होगा. ये वहां घूमने और वहां के लोगों को समझने में आपके बहुत काम आएगा.

1. लद्दाख के लोगों का लाइफ़स्टाइल

यहां के लोग अपने कल्चर से बहुत ही प्यार करते हैं. चाहे डेली रूटीन हो या फिर कोई फ़ेस्टिवल ये अपनी परंपरा को निभाने से पीछे नहीं हटते. यहां के अधिकतर लोग खेती करते हैं. हां कुछ लोग हैं जो टूरिज़्म के ज़रिये भी अब पैसे कमाने लगे हैं. इसके अलावा यहां भेड़ चराना यानी चरवाहे का काम भी अधिकतर लोग करते दिखाई दे जाएंगे.

2. लद्दाख की परंपराएं

वैसे तो यहां के लोग आर्य सभ्यता से ताल्लुक रखते हैं, लेकिन फिर भी यहां कि अधिकतर आबादी बौद्ध धर्म को मानती है. यहां के कुछ लोग तिब्बतियन जीवन शैली से भी प्रभावित हैं. यहां के लोग एक-दूसरे से काफ़ी जुड़े हुए हैं. जब भी खेती का समय आता है तो ये एक-दूसरे के खेत में उनका हाथ बंटाने पहुंच जाते हैं. लद्दाखी लोग अपने परिवार का सबसे बड़े बेटे को लामा बनने के लिए दे देते हैं. इससे पता चलता है कि वो कितने धार्मिक होते हैं.

3. यहां के रिवाज़

यहां के लोग बहुत ही ख़ुशमिज़ाज होते हैं. इन्हें अपनी संस्कृति और इतिहास का जश्न मनाना पसंद है. शादी हो या फिर कोई त्योहार ये लोग उसे अपने पुराने रिवाज़ों के अनुसार ही मनाते हैं. इनका पसंदीदा खेल पोलो है. मगर अब कुछ लोग नए ज़माने के हिसाब से फ़ुटबॉल और क्रिकेट भी खेलने लगे हैं.

4. लद्दाख के त्योहार

यहां के अधिकतर त्योहार फसलों और धर्म से संबंधित हैं. उनमें से कुछ इस प्रकार हैं:

-Hems Tse-Chu (लद्दाख का सबसे प्रसिद्ध त्योहार)

-Dosmoche Festival(इसमें बौद्ध नृत्य करते हुए प्रार्थना करते हैं)
-Losar Festival
-Sindhu Darshan Festival
-Ladakh Festival -Tak-Tok Festival

5. खाना

पहाड़ों पर मिलने वाले फ़ेमस फ़ूड जैसे थुपका, मोमो, सकु और थेनतुक यहां लगभग हर घर में बनाए जाते हैं. इसके अलावा वहां कि पारंपरिक बटर टी और पाबा भी बड़े ही चाव से खाए और बनाए जाते हैं.

6. भाषा

लद्दाख में लद्दाखी, बालती, तिब्बतियन और उर्दू भाषा बोली जाती हैं. आम लोग अधिकतर लद्दाखी भाषा में संवाद करना पसंद करते हैं. ये रहे वहां इस्तेमाल होने वाले कुछ कॉमन ग्रीटिंग्स हैं:

-Nato Deleks – गुड मॉर्निंग.

-Thu-chi che – धन्यवाद.
-Ta-shi-de-Leh- हेलो.

7. पहनावा

लद्दाख में पुरुष सामान्य तौर पर Goucha नाम की एक लंबी ऊनी पोशाक पहनते हैं. महिलाएं भी एक लंबी ड्रेस पहनती हैं जिसे Kuntop और Bok कहा जाता है. Perak नाम की एक लंबी टोपी पहने हुए भी लोग आपको दिखाई दे जाएंगे.

उम्मीद है लद्दाख के लोगों के बारें में हमारी ये जानकारी आपको पसंद आई होगी.