होली के दिन दिल खिल जाते है

रंगों से रंग मिल जाते हैं
गीले-शिकवे भूल के दोस्तों
दुश्मन भी गले मिल जाते हैं...

 होली की पहचान है ये गाना. दोस्तों बस 3 दिन बाद होली आने वाली है. बाज़ारों और गली-मोहल्लों में रंगों की दुकाने सज चुकी हैं. तरह-तरह की मिठाइयों की दुकानों पर भीड़ लग रही हैं. बाज़ारों में खूब चहल-पहल है. न चाहते हुए भी होली वाले दिन रंग लग ही जाता है. अब बात हो रही है रंगों की, तो आपको बता दें कि बाज़ारों में मिलने वाले रंगों में ऐसे केमिकल्स मिले होते हैं जो स्किन के लिए बहुत ज़्यादा हानिकारक होते हैं.

 और यही वजह है कि बहुत से लोग होली के दिन ख़ुद को घर में बंद कर लेते हैं. वैसे तो मार्केट में ऑर्गेनिक और हर्बल रंग आसानी से मिल जाते हैं लेकिन महंगे दामों की वजह से लोग खरीद नहीं पाते. अगर आप भी ऐसे लोगों में से हैं, तो हम आपको आज घर पर ही हर्बल रंगों को बनाने के तरीके बताने जा रह हैं.

1. लाल रंग 

होली के त्योहार में लाल रंग को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है इस रंग को केमिकल फ़्री बनाने के लिए गुड़हर (Hibiscus) के फूलों को अच्छी तरह से पीस लें उससे गाढ़ा लाल रंग बन कर तैयार हो जायेगा. अगर आप चाहें तो इसे ज़्यादा मात्रा में तैयार करने के लिए इसमें आटा भी मिला सकते हैं. लाल रंग तैयार करने के लिए आप लाल चंदन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ये केमिकल फ़्री होने के साथ-साथ स्किन के लिए भी लाभदायक होता है.

2. नारंगी रंग

नारंगी रंग तैयार करने के लिए टेसू के फूलों का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसे तैयार करने के लिए हम टेसू के फूलों को पानी में भिगो कर पूरी रात के लिए छोड़ देंगे या फिर इसे अच्छे से गर्म पानी में उबाल भी सकते हैं. इस तरह से नारंगी रंग बन कर तैयार हो जायेगा

3. पीला रंग 

पीले रंग को तैयार करने के लिए 100 ग्राम हल्दी पाउडर, 50 ग्राम गेंदे के फूल 20 ग्राम संतरे के छिलके और 200 ग्राम अरारोट पाउडर को एक जगह इकट्ठा कर लें. उसके बाद एक बड़े से बाउल में ये सारी सामग्री डाल कर अच्छी तरह से मिला लें. इस तरह से पीला रंग बन कर तैयार हो जायेगा.

4. नीला रंग 

महुआ के फूल से केमिकल फ़्री होली का रंग बनाया जा सकता है. इससे नीला रंग बन कर तैयार होता है, अगर आप केरल के निवासी हैं, तो आप नीले गुड़हर के फूलों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इसे तैयार करने के लिए आप इसे पूरी तरह सुखा कर इसे पीस लें और अगर आप गिला रंग तैयार करना चाहते हैं, तो इसे पूरी तरह चूरा कर के पानी में भिगो दें. उसके बाद इसका अच्छे से मिश्रण बना कर तैयार कर लें. गहरा नीला रंग बन कर तैयार हो जायेगा. 

5. हरा रंग

 हरा रंग तैयार करने के लिए हिना पाउडर और आटे को बराबर मात्रा में लें और इसे अच्छी तरह से मिला लें इससे सूखा हरा रंग बन कर तैयार हो जायेगा. अगर आप गिला रंग तैयार करना चाहते हैं, तो नीम के पत्ते को पानी में डाल कर अच्छी तरह से इसे उबाल कर हिना पाउडर और आटे के मिश्रण में मिला दें. 

6. गुलाबी रंग

 गुलाबी रंग के लिए गुलाबी गुड़हर के साथ चुकंदर का मिश्रण मिलाकर भी गहरा गुलाबी रंग बना सकते है. इन सभी सामग्रियों की मदद से गुलाबी सूखा रंग तैयार करने के लिए चुकंदर को अच्छी तरह से पीस लें और इसका पेस्ट बना कर धूप में सूखने के लिए थोड़ी देर के लिए छोड़ दें. जब ये पूरी तरह से सूख जाए, तो इस में बेसन मिला कर इसकी मात्रा को बढ़ा सकते हैं.

7. भूरा रंग

अगर आप भूरे रंग का आर्गेनिक कलर तैयार करना चाहते हैं, तो पानी में एक छोटा कप हिना पाउडर मिलाएं और इसमें एक चौथाई कप आंवला पाउडर मिला कर उसे अच्छी तरह से उबाल लें और अगर आप इस मिश्रण को सूखे रंग में बदलना चाहते हैं, तो इसमें आटा मिला सकते हैं. 

घर पर ही हर्बल कलर बनाने के ये तरीके अगर आपको पसंद आये हों तो इनको अपनायें. साथ ही अगर आपकी जान-पहचान में कोई ऐसा है जो रंगों से दूर भागता है उसे भी इनके बारे में बताएं ताकि वो बेझिझक होली खेल सकें. इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करके उनकी होली को भी ऑर्गेनिक रंगो से भरें.