आपने भी नोटिस किया होगा कि रेस्टोरेंट्स में खाना खाने आए लोग ऐसा व्यवहार करते हैं, मानो उन्होंने पूरा रेस्टोरेंट ख़रीद लिया हो. रेस्टोरेंट में दाख़िल होते ही जो दरबान हमारा स्वागत करता है, हम उसकी ओर देखते तक नहीं. वेटर को ऐसे बुलाते हैं, जैसे उसने हमारी उधारी खा रखी हो. खाने का ऑर्डर भी ऐसे देते हैं, जैसे खाना अगर दो मिनट भी लेट आया, तो धरती पर प्रलय आ जाएगी. ये सच बात है कि नहीं? यक़ीनन सच है.

Dakshin 5
Source: newsmeter

ये भी पढ़ें: दिल्ली के वो 10 ऐतिहासिक रेस्टोरेंट जो सदियों पुराने हैं और आज भी लज़ीज खाना परोस रहे हैं

हमें वाक़ई अपने इस व्यवहार को बदलने की ज़रूरत है. मगर ये कैसे होगा? इसका जवाब एक हैदराबाद के रेस्टोरेंट के पास है. दरअसल, भारतीयोंं को सबसे ज़्यादा कोई चीज़ आकर्षित करती है, तो वो है 'डिस्काउंट'. कहीं भी हमें डिस्काउंट मिलता है, तो हम उसे लेने फ़ौरन पहुंंच जाते हैं. 

बस 'दक्षिण-5 रेस्टोरेंट' (Dakshin-5 Restaurant) ने इसी डिस्काउंट का इस्तेमाल लोगों को थोड़ी तमीज़ सिखाने के लिए किया है. ये रेस्टोरेंट उन सभी लोगों को डिस्काउंट देता है, जो ऑर्डर करते वक़्त 'थैंक्यू', 'प्लीज़', 'हैव अ गुड डे' जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं.  

restaurant in Hyderabad
Source: indiatimes

हैदराबाद के पब्लिक रिलेशन कंसल्टेंट डी. रामचंद्रम ने इस ऑफ़र के बारे में बताते हुए एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है. उन्होंने कहा कि लोग अब सामान्य शिष्टाचार भी फ़ॉलो नहीं करते. मगर 'Dakshin 5' बदलाव लाना चाहता है. आप अच्छे से पेश आइए और डिस्काउंट पाइए.

देखिए वीडियो- 

कितना मिलेगा डिस्काउंट?

Dakshin 5 रेस्टोरेंट में एक थाली की क़ीमत 165 रुपये है. लेकिन अगर कोई कस्टमर ऑर्डर करते वक़्त Please बोलेगा, तो उसे 15 रुपये का डिस्काउंट मिलेगा. अगर वो Please के साथ Good Afternoon भी बोलेगा, तो उसे एक्स्ट्रा 15 रुपये की छूट मिलेगी. दूसरी रेट की थालियों के साथ भी इसी तरह का ऑफ़र है.

Discount
Source: tosshub

रेस्टोरेंटं के मैनेजिंग पार्टनर ए.के. सोलंकी और संजीव कुमार कहा कि लोग जितनी अधिक तमीज़ के साथ पेश आएंगे, डिस्काउंट उतना ही बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि लोग कई बार रेस्टोरेंट के कर्मचारियों के साथ बुरा व्यवहार करते हैं, चाहें उनकी ग़लती हो या न हो. ऐसे में डिस्काउंट का ऑफ़र न सिर्फ़ ग्राहकों को अधिक विनम्र होने के लिए प्रोत्साहित करेगा, बल्कि उनके चेहरों पर मुस्कान भी लाएगा.

उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों में ये प्रैक्टिस पहले से फ़ॉलो हो रही है. वहां इसका फ़ायदा भी मिला है. बता दें, दक्षिण-5 आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु और तेलंगाना के व्यंजन बनाता है. इसलिए इसका नाम Dakshin 5 है