इस दुनिया में पैसा कमाना आसान है या मुश्किल? बड़े-बुज़ुर्गों ंके मुताबिक मुश्किल है, लेकिन Reddit यूज़र्स की मानें, तो एकदम हलवा. मतलब, पैसा कमाने के लिए कोई तीर नहीं मारना है, बल्कि एकदम हलका-फुलका काम करके भी अच्छा माल बटोरा जा सकता है.

तो चलिए जानते हैं कि कैसे ये लोग पुचुक टाइप कामों से जमकर कमाई कर रहे हैं. क्या पता अपने को भी माल बटोरने का कोई आइडिया आ जाए.

1. कुत्ते सुलाकर की तगड़ी कमाई

cuddle with dogs
Source: boredpanda

इस शख़्स का काम दो कुत्तों को थपकी देकर सुलाने का था. मस्त बेडरूम में नेटफ्लिक्स/वाईफाई का भी जुगाड़ था. इस काम के लिए इन्हें 2231 रुपये प्रति घंटे के हिसाब से मिलता था.

ये भी पढ़ें: 10 इंट्रेस्टिंग Real Life नौकरियां जिनके बारे में सुनकर लगेगा कि वाह! नौकरी हो तो ऐसी

2. मालिश कराने के पैसे मिले.

massage school
Source: boredpanda

एक शख़्स ने मसाज स्कूल में मसाज "मॉडल" के रूप में काम किया. यहां उसका काम बस लेटकर मसाज कराना था. स्टूडेंट्स उसे देखकर सीखते थे. इस काम के लिए उसे 2610 रुपये प्रति घंटा मिलता था.

3. इसका काम इतना आसान था कि नौकरी ही छोड़ दी

administrative assistant
Source: boredpanda

एक हाई स्कूल में प्रशासनिक सहायक के रूप में काम करने के लिए 2082 रुपये प्रति घंटा मिलते थे. काम बस ग्रेड चढ़ना और लेटर इधर-उधर भेजना था. बाकी कोई कॉल आए तो उसे प्रिंसिपल या स्कूल नर्स को ट्रांसफर करना था. कुल मिलाकर वो दिनभर खाली बैठती थी और इससे तंग आकर उसने नौकरी ही छोड़ दी.

4. ट्रैश ट्रक ड्राइवर भी करते हैं मोटी कमाई

Trash truck drivers
Source: boredpanda

ट्रैश ट्रक ड्राइवर का काम काफी सरल माना जाता है. मगर इनकी सैलरी कितनी ज़्यादा है, उसका अंदाज़ा इससे लगाइए कि एक शिक्षक को उनके मुकाबले कम तनख़्वाह पर रखा जाता है.

5. रेडियोलॉजिकल कंट्रोल तकनीशियन

Radiological control technician
Source: boredpanda

एक रेडियोलॉजिकल कंट्रोल तकनीशियन ने बताया कि वो मुश्किल से दिनभर में एक घंटा काम करता होगा. इस काम के लिए उसे 3346 रुपये प्रति घंटा मिलता है. ज़्यादातर वो अपना टाइम सोशल मीडिया चलाकर काटता है.

6. ओल्ड कॉमेडी शो सुनने के पैसे.

old radio shows
Source: boredpanda

एक शख़्स को उसके कॉलेज में मुझे पुराने रेडियो शो को कैटलॉग और कन्वर्ट करने का काम मिला. उसे बस ओल्ड कॉमेडी शो सुनने के पैसे मिलते थे. उसे बस रीलों को लोड करना और बटन दबाना था.

7. पावर स्टेशन में मॉनिटर के सामने बैठने की नौकरी.

power station
Source: boredpanda

एक शख़्स ने अपने पड़ोसी के बारे में बताया कि वो एक पावर स्टेशन में काम करता है. उसका काम मॉनिटर के सामने बैठना और ये सुनिश्चित करना है कि सब कुछ ठीक से काम करता रहे. अगर कुछ गलत हो जाए, तो उसे संबंधित विभाग को फ़ोन करना है. इस काम के लिए उसे 11,155 रुपये प्रति घंटा मिलता था.

8. यात्रियों के बैग रखने की नौकरी.

heliport
Source: boredpanda

एक शख़्स हेलीपोर्ट पर काम करता हैं, जहां वो बस यात्रियों के कुछ बैग लेकर उन्हें हेली पर रख देता है. फिर वापस आकर फ़ोन के पास तब तक बैठा रहता है, जब तक यात्री वापस न आ जाए. इस काम के लिए उसे क़रीब 50 लाख रुपये की सैलरी मिलती है.

9. टूर गाइडिंग

Tour guiding
Source: boredpanda

एक शख़्स ने बताया कि वो हवाई में वाटर टूर गाइड है. वो आधा वक़्त पानी और नाव में मौज करता है. काम उसका एक लाइफ़गार्ड और बोट फ़्लाइट अटैंडेंट का है. ज़्यादातर वो लोगों को बस सूचना देता है और औसतन लोगों से उसकी कमाई 4 गुना ज़्यादा है.

10. रिसेप्शिनस्ट की नौकरी से कमाया खूब पैसा.

reception
Source: ctfassets

एक कॉर्पोरेट फर्म में काम करने वाली लड़की ने बताया कि उसे गेस्ट को बैठने, खाने-पानी के लिए पूछने और बॉस का कमरा दिखाने के लिए मोटी रकम मिलती है. बस इस जॉब के लिए लड़की का सुंदर और प्रेज़ेंटेबल होना ज़रूरी है. उसने बताया कि उसे इस काम के लिए क़रीब 3,000 रुपये प्रति घंटा मिलता था

11. क्लोज़्ड कैप्‍शनर ब्रॉडकास्टर

boredpanda
Source: boredpanda

एक जनाब न्‍यूज के क्लोज्ड कैप्‍शनर ब्रॉडकास्टर के तौर पर काम करते हैं. वो भी वर्क फ़्रॉम होम. काम के घंटे भी ख़ुद ही डिसाइड करते हैं. उन्हें हर असाइनमेंट के हिसाब से क़रीब 3718 रुपये से 5205 रुपये तक की प्रति घंटा कमाई होती हैै. हालांकि, उन्होंने बताया कि शुरुआत में इस काम में अपने जेब से पैसा लगाना पड़ता है.  लेकिन बाद में अच्छा पैसा बनता है.

12. प्रोजेक्ट मैनेजर का काम, जीवन में मस्त आराम

Project Manager
Source: boredpanda

इन जनाब को देखकर तो यही लगता है. इन्होंने बताया कि वो एक यूएस बेस्ड कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर हैं. पूरे हफ़्ता मिलाकर वो बमुश्किल 4 घंटा काम करते होंगे. वहींं, सैलरी लाखों में है. वो दिनभर या तो गेम खेलते हैं या फिर घर के काम निपटाते हैं. आलम ये है कि इतनी सुस्ती से अब उन्हें भी उलझन लगने लगी है.

तो भइया, किसे-किसे अपनी नौकरी छोड़ने का ख़्याल आया?